scriptविष कन्याओं की जाल में फंस आतंकियों के चंगुल में फंस रहे हैं गोरखपुर के युवक, सभी की है एक जैसी कहानी… | Patrika News
गोरखपुर

विष कन्याओं की जाल में फंस आतंकियों के चंगुल में फंस रहे हैं गोरखपुर के युवक, सभी की है एक जैसी कहानी…

एटीएस) लखनऊ ने गोरखपुर पिपराइच के मर्चेंट नेवी कर्मी के खिलाफ एटीएस थाने में केस दर्ज कर लिया है। पाकिस्तान महिला के हनी ट्रैप में फंसकर मर्चेंट नेवी कर्मी ने देश की गोपनीय सूचनाएं दूसरे देशों को साझा की थी।

गोरखपुरMay 19, 2024 / 12:55 pm

anoop shukla

गोरखपुर में UP ATS के हत्थे चढ़ा मर्चेंट नेवी का कर्मचारी भी हनी ट्रैप में ही फंसा। बिल्कुल उसी तरह जैसे ISIS संदिग्ध मोहम्मद तारिक अतहर की राह पर चल रहा था। जिस तरह तारिक गुजरात की रहने वाली आतंकी सुमेरा की जाल में फंसकर ISIS से जुड़ा था, ठीक उसी तरह मर्चेंट नेवी का कर्मचारी का भी गोवा में एक पाकिस्तानी महिला से संपर्क में आया था। 
दोनों की मुलाकात गोवा में पोस्टिंग के दौरान एक जहाज पर काम करने के दौरान हुई। इसके बाद वह पाकिस्तानी युवती के जाल में फंसा तो फंसता ही चला गया। यहीं से कर्मचारी युवती के प्यार में इस कदर पागल हो गया कि वह उसके कहने पर सबकुछ करने लगा। तमाम बैंक खातों के जरिए ISI के रुपयों को देश में मंगवाना और यहां से पाकिस्तान रुपए तक भेजने लगा। दो दिनों की पूछताछ में ATS के हाथ कर्मचारी के पाकिस्तान कनेक्शन के कई अहम सुराग लगे हैं। अब UP ATS की टीम उसे लेकर लखनऊ मुख्यालय में पूछताछ कर रही है। 
अब तक की जांच में सामने आया है कि साल 2023 के जून महीने में गोरखपुर से पकड़े गए मोहम्मद तारिक अतहर और मर्चेंट नेवी के कर्मचारी की कई बातें एक जैसी हैं। दोनों के आतंकी संगठनों से जुड़ने का रास्ता भी एक जैसा ही था। ऐसे में अब ATS गुजरात में पकड़ी गई आतंकी सुमेरा, गोरखपुर से पकड़ा गया मोहम्मद तारिक अतहर और मर्चेंट नेवी कर्मचारी के आपसी कनेक्शन की तलाश में जुटी हुई है। ATS सूत्रों का मानना है कि हनीट्रैप के ​जरिए युवाओं को अपनी जाल में फंसाकर उन्हें देश विरोधी गतिविधियों में शामिल करने के लिए महिलाओं का एक बड़ा रैकट काम कर रहा है। 
सूत्रों के मुताबिक फिलहाल पकड़े गए युवक से पूछताछ की जा रही है। टीम उसके पाकिस्तान कनेक्शन हैं या नहीं, टीम इसकी तह तक जाने में लगी हुई है। अब तक अलग-अलग बैंक खातों में हुए ट्रांजेक्शन की डिटेल्स भी खंगाली जा रही है। इस बात से कतई इंकार नहीं किया जा सकता है कि इसके जरिए UP ATS एक बड़े देश विरोधी साजिश को नाकाम कर सकती है। जांच पूरी होने के बाद ही कुछ स्पष्ट हो सकेगा। 
अब ATS यह जानने में जुटी है कि युवक का गोवा की युवती से क्या रिश्ता है और वह उसके कहने पर आनलाइन लेनदेन क्यों करता था? ATS युवती की मास्टर प्लानिंग को फेल कर टेरर फंडिंग की आशंका को बेपर्दा करने में जुटी है। आशंका है कि यह हनी ट्रैप का मामला भी हो सकता है। दुश्मन देश पाकिस्तान से टेरर फंडिंग की सूचना पाकर स्थानीय खुफिया विभाग की टीम भी युवक के घर पहुंची और उसकी मां से पूछताछ की।
बता दें की बीते गुरुवार को ATS की टीम ने गोरखपुर में पिपराइच के एक गांव से युवक को उठाया था। पहले युवक से पिपराइच थाना पर 4 घंटे पूछताछ हुई। लेकिन, कोई ठोस जवाब न मिलने पर ATS की टीम उसे लेकर लखनऊ चली गई। अब वहां उससे पूछताछ चल रही है। ATS के अधिकारियों का कहना है कि अभी पूछताछ जारी है। मामले की तह तक जाने के बाद ही कुछ बताया जा सकता है।
युवक एक आशा कार्यकत्री का बेटा है। 20 साल पहले उसके पिता की मौत हो गई थी। फिर वह रोजी-रोटी के लिए गोवा चला गया। गोवा में वह एक शिप पर काम कर रहा था। गांव की भूमि फोरलेन निर्माण के लिए अधिग्रहण में चली गई। जिसका मुआवजा लेने वह 4 महीने पहले ही गांव लौटा था। मुआवजे की रकम मिलने के बाद वह अभी अपना मकान भी बनवा रहा था।
ATS के पास पक्की सूचना थी कि इस युवक के बैंक खाता से संदिग्ध लेनदेन हुआ है, जोकि टेरर फंडिंग से जुड़ा मामला हो सकता है। इसी आधार पर दो गाड़ियों से पहुंची ATS टीम ने पिपराइच पुलिस की मदद से युवक को उठाया। ATS के पास बैंक ट्रांजेक्शन से जुड़ी जानकारी और कॉल डिटेल भी मौजूद थी। टीम ने जब पूछताछ शुरू की तो पता चला है कि गोवा की किसी मैडम जी ने उससे यह लेनदेन कराया है। 
अब यह मैडम कौन हैं और उसने किस तरह युवक को अपने जाल में फंसाया। मैडम जी का इरादा क्या है और युवक की इसमें क्या भूमिका है? लेनदेन क्यों किया गया और ISI तक इसके तार जुड़ रहे हैं या नहीं? ATS अब इन सवालों का जवाब तलाश करने में जुटी हुई है। हनी ट्रैप जैसे एंगल से भी पड़ताल की जा रही है। ATS का कहना है कि जल्द ही वह इस पूरे मामले से पर्दा उठाएगी।
अब तक की जांच में सामने आया है कि युवक पाकिस्तानी युवती के संपर्क में आकर पिछले चार से पांच साल में वह ISI के साथ सीधे जुड़ गया था। इस दौरान पाकिस्तानी युवती ने कई दूसरी लड़कियों से भी गोवा में उससे मिलवाया था। ये लड़कियां भी ISI के संपर्क में थीं।

Hindi News/ Gorakhpur / विष कन्याओं की जाल में फंस आतंकियों के चंगुल में फंस रहे हैं गोरखपुर के युवक, सभी की है एक जैसी कहानी…

ट्रेंडिंग वीडियो