गांव के पहलवानों के लिए सरकार करने जा रही है यह काम, होगा इनको फायदा

 

मुख्यमंत्री के जिले में हो रहा यह काम

भदेस खेलों को बढ़ावा देने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। मुख्यमंत्री के जिले में कुश्ती के दिन बहुराने के लिए कवायद की जा रही है। गांवों में चलने वाले अखाड़ों को फिर से नया जीवन दिए जानी की तैयारी है। जिले के करीब डेढ़ दर्जन अखाड़ों को इससे लाभ मिलेगा।
बता दें कि गोरखपुर जिले के 19 ब्लॉकों में 17 ब्लॉक में कुछ वर्ष पहले अखाड़ों के निर्माण कराया गया था। केवल गगहा व कैम्पियरगंज में अखाड़ा निर्माण नहीं हो सका था। लेकिन समय बीतने के साथ इनका ध्यान नहीं रखा जा सका और अखाड़ा भवन जर्जर हो गए। मूलभूत सुविधाओं के अभाव में पहलवान भी यहां आते नहीं।
मुख्यमंत्री के रूप में योगी आदित्यनाथ के पद संभालते ही गोरखपुर में विकास कार्यों में तेजी आई। इसी क्रम में जिले के अखाड़ों की याद भी जिम्मेदारों को आई। ग्रामीण खेलों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अब अखाड़ों के दिन बहुराने की कोशिश की जा रही। मंशा यह है कि गांव के इन अखाड़ों में अच्छे पहलवान पैदा होंगे। उनको मूलभूत आवश्यक सुविधा यहां मिल सकेगा।

सीडीओ ने बैठक कर इसकी सुधि ली

सीडीओ ने बैठक लेकर सभी 17 अखाड़ों को संचालित करने के लिए जो भी मूलभूत आवश्यकताएं है उनको चिन्हित करने का निर्देश दिये है। उन्होंने बताया कि आरईएस के निर्देशन में ग्राम पंचायतों के द्वारा मरम्मत करायी जाये। उन्होंने निर्देश दिया कि जो अखाड़े बहुत ही जर्जर है उनका पुर्ननिर्माण कराया जाये। उन्होंने कहा कि अखाड़ों के आसपास जो भी हैण्डपम्प खराब है ग्राम पंचायतें उसको रिबोर करायें।

अखाड़ों के आसपास शौचालय व स्नानगृह भी बनेंगे

गांव के अखाड़ों में बड़ी संख्या में खिलाड़ी आते हैं। यहां ये लोग घंटों वर्जिश करते हैं। अखाड़ों में सुविधा के लिए सरकार ने कर्इ महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। इसके लिए अखाड़ों के आसपास शौचालय व स्नानगृह का भी निर्माण कराया जाएगा ताकि उनको कोई असुविधा न हो।

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned