मांगे पूरा करने के लिए शिक्षकों ने सरकार के खिलाफ दिया धरना

Dheerendra Vikramadittya

Publish: Aug, 28 2018 11:53:08 PM (IST)

Gorakhpur, Uttar Pradesh, India
1/3

सातवें वेतनमान, पेंशन आदि विभिन्न मांगों को लेकर मंगलवार को गोरखपुर विवि से संबंद्ध काॅलेज शिक्षक संघ ने विवि प्रशासनिक भवन पर धरना दिया। शिक्षकों ने चेताया कि सरकार अगर जल्द उनकी मांगों को पूरा नहीं करती तो वे वृहद आंदोलन को बाध्य होंगे।
धरना उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालय महाविद्यालय शिक्षक महासंघ फुफुक्टा के आह्वान पर आयोजित किया गया।
धरने में गुआक्टा अध्यक्ष डाॅ.एसएन शर्मा, मंत्री डाॅ.केडी तिवारी, फुफुक्टा के संयुक्त मंत्री डाॅ.भगवान सिंह, डाॅ.श्रीश मणि त्रिपाठी, आवासीय विश्वविद्यालय शिक्षक महासंघ के अध्यक्ष प्रो.चितरंजन मिश्र, गोविवि शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रो.विनोद कुमार सिंह, महामंत्री प्रो.ध्यानेंद्र दुबे, प्रो.हिमांशु चतुर्वेदी, प्रो.ओपी पांडेय ने भी संबोधित किया।
धरने में डाॅ.आमोद कुमार राय, डाॅ.लोकेश त्रिपाठी, डाॅ.राजेश कुमार, डाॅ.धनंजय सिंह, डाॅ.धीरेंद्र सिंह, डाॅ.बृजेश पांडेय, डाॅ.अंबिका तिवारी, डाॅ.आरसी राय, डाॅ.चंद्रभान वर्मा, डाॅ.शिवबिहारी पांडेय, डाॅ.रविंद्र आनंद, डाॅ.विभ्राट चंद्र कौशिक, डाॅ.सुधीर कुमार शुक्ल, डाॅ.अजय मिश्र, डाॅ.नाजिश बानो, डाॅ.बलवान सिंह, डाॅ.सुबोध कुमार, डाॅ.नित्यानंद, डाॅ.वीरेंद्र मणि त्रिपाठी, डाॅ.रविंद्र वर्मा, राजेश मिश्र, डाॅ.रामचेत सिंह यादव, डाॅ.संजय मिश्र, डाॅ.राजेश कुमार सिंह, डाॅ.आरपीएन त्रिपाठी भी मौजूद रहे।


ये थी शिक्षकों की प्रमुख मांग

1- 7वें वेतनमान को अविलम्ब लागू किया जाय।

2. पुरानई पेंशन योजना की शीघ्र बहाली।

3. वेतन संदाय से वेतन प्राप्त मानदेय शिक्षकों को अबिलम्ब आमेलित/विनियमितीकरण करना।

4. यूजीसी के संस्तुति के अनुसार डिग्री शिक्षकों की अधिवर्षता आयु 65 वर्ष करना।
5-अनुदानित कालेजों में कार्यरत स्ववित्तपोषित शिक्षकों को ग्रांट-इन-ऐड के साथ विनियमितीकरण करना।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned