बीजेपी विधायक व डीएम में बहस, विधायक ने कहा आपको विधानसभा...

  • भ्रष्टाचार के मामले में अंडरग्राउंड केबिल बिछा रही फर्म को किया गया है ब्लैकलिस्टेड
  • भाजपा विधायक के भाई की फर्म करा रही थी काम

मुख्यमंत्री के जिले के डीएम पर सत्ताधारी दल के एक विधायक भड़के हुए हैं। बगल के देवरिया जिले की एक विधानसभा का प्रतिनिधित्व करने वाले भाजपा विधायक ने डीएम गोरखपुर की शिकायत विधानसभा अध्यक्ष करने की भी बात कही है। दोनों के बीच बात-विवाद शहर के गोलघर में अंडरग्राउंड विद्युतीकरण को लेकर हुई। अंडरग्राउंड केविलिंग में भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद निर्माण करा रही फर्म को ब्लैकलिस्टेड कर दिया गया है। फर्म बीजेपी विधायक के भाई का ही है।

बुधवार को गोरखपुर डीएम के.विजयेंद्र पांडियान कार्यालय में लोगों से मिल रहे थे। इसी दौरान देवरिया के विधायक बरहज सुरेश तिवारी भी पहुंच गए। बताया जा रहा है कि भाजपा विधायक ने शहर के गोलघर में अंडरग्राउंड केबिल बिछाने संबंधी फर्म पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर जांच आख्या को लेकर आपत्तियों को दर्ज कराया। उन्होंने इसे एकतरफा कार्रवाई बताया। विधायक ने पुनः जांच कराने की मांग करते हुए नए सिरे से रिपोर्ट भेजने की बात कही। बताया जा रहा है कि इन्हीं सब मुद्दों को लेकर विधायक व डीएम के बीच कुछ देर बहस चली। डीएम ने शासन स्तर से मानिटरिंग की बात कहते हुए सीधे शासन के हस्तक्षेप की बात कही। बताया जा रहा है कि विधायक ने शिकायत करने वाले अपने पार्टी के ही वरिष्ठ विधायक व प्रशासन की मिलीभगत से जानबूझ कर की जा रही कार्रवाई बताया। बात नहीं बनने पर गुस्साए विधायक मामले को मुख्यमंत्री से अवगत कराने की बात कह लौट गए।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned