पत्नी की हत्याकर मार्निंग वाॅक पर निकल गया पति, वापस लौटा तो...


शहर की ब्यूटीशियन की हत्या का मामला

ब्यूटीशियन की हत्या के मामले में पुलिस ने 48 घंटे के भीतर खुलासा कर दिया है। जिस पति के साथ उसने सात जन्मों का रिश्ता निभाने के लिए अग्नि के सामने सात फेरे लिए थे, उसी ने सांसों की डोर काट दी।
एसएसपी शलभ माथुर ने इस हत्याकांड पर से पर्दा उठाया। उन्होंने बताया कि पति ही अपनी ब्यूटीशियन पत्नी की हत्या किया था। जांच-पड़ताल में पुलिस इस नतीजे पर पहुंची। उन्होंने बताया कि पति ने पूछताछ के बाद जुर्म स्वीकार कर लिया है। उसकी निशानदेही पर आलाकत्ल भी बरामद कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि घटनास्थल के आसपास लूटपाट की नियत से की गई हत्या का दृश्य बनाया गया था। लेकिन फाॅरेंसिक ओपिनियन और मौका-ए-वारदात का मुआयना करने के बाद शक हुआ। आसपास के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला गया। लुटेरों का कोई फुटेज नहीं मिला। एक कैमरे में मार्निंग वाॅक पर निकले पति सुनील सिंह झोले में कुछ लेकर निकलते दिख रहे हैं।
पुलिस ने सुनील सिंह को डोमिनगढ़ रेलवे स्टेशन के पास हिरासत में ले लिया। कड़ाई से पूछताछ के बाद वह टूट गया।
पुलिस के अनुसार सुनील ने अपनी पत्नी की हत्या आए दिन होने वाले झगड़े से तंग आकर किया। पुलिस के अनुसार मृतका का भाई जीआरपी में इंस्पेक्टर है। पति पर रौब गांठते हुए पत्नी आए दिन झगड़ती थी। एसएसपी ने बताया कि कत्ल वाली रात मृतका रेनू सिंह व उसके पति सुनील के बीच विवाद हुआ था। हत्यारोपी सुनील ने स्वीकारोक्ति की कि झगड़ा के दौरान पत्नी ने काफी अशोभनीय बातों का प्रयोग किया, उसने गुस्से में आकर लोढ़ा से उसपर वार कर दिया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद पति खून से लथपथ कपड़े, आलाकत्ल आदि एक झोले में करके सारे सबूत मिटाने के बाद मार्निंग वाॅक के बहाने से घर से निकला। सारे सबूत को ठिकाने लगाकर वह वापस लौटा। घर के सारे सामान बिखरा दिए ताकि ऐसा लगे कि लूटपाट करने की नीयत से यह किया गया है। इसके बाद शोर मचाया और हत्या के बारे में सबको जानकारी दी।

यह था मामला

तिवारीपुर क्षेत्र के सूर्य विहार काॅलोनी में पानी टंकी के पास सुनील सिंह का मकान है। वह अपनी पत्नी रेनू सिंह के साथ रहते हैं। मकान के अन्य हिस्से को उन्होंने किराए पर दे रखा है। पत्नी रेनू सिंह ब्यूटी पार्लर चलाती हैं। मंगलवार की सुबह रोज की भांति सुनील सिंह मार्निंग वाॅक पर निकले। वाॅक से जब वह वापस लौटे तो घर के अंदर का दृश्य देखकर अवाक रह गए। घर में सामान बिखरे पड़े थे। अनहोनी की आशंका में वह अपने बेडरूम में गए तो देखा खून से लथपथ उनकी पत्नी रेनू पड़ी थी। आसपास काफी सामान बिखरा पड़ा था।
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रेनू को किसी धारदार हथियार से बेरहमी से मारा गया है। पति सुनील सिंह के अनुसार वह मार्निंग वाॅक से लौटे तो उनकी पत्नी रेनू खून से लथपथ बेड पर पड़ी थी। उन्होंने बताया कि उनकी किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी।

हत्याकांड के खुलासे में इन पुलिसवालों का था अहम योगदान

1- इंस्पेक्टर रामभवन यादव प्र.नि. तिवारीपुर, जनपद गोरखपुर मय हमराह।
2- उनि सत्यप्रकाश सिंह थानाध्यक्ष सहजनवॉ जनपद गोरखपुर मय हमराह।
3- उनि धीरेन्द्र राय स्वॉट टीम, जनपद गोरखपुर।
4- उनि मनोज दुबे थाना तिवारीपुर जनपद गोरखपुर।
5- उनि अविनाश यादव थाना तिवारीपुर जनपद गोरखपुर।
6- का. विपेन्द्र मल्ल स्वॉट टीम, जनपद गोरखपुर।
7- का. राजमगंल सिहं स्वॉट टीम, जनपद गोरखपुर।
8- का. शशिकान्त राय स्वाट टीम, जनपद गोरखपुर।
9- का. राशिद अख्तर खॉ स्वाट टीम, जनपद गोरखपुर।
10-का. सनातन सिहं स्वॉट टीम, जनपद गोरखपुर।
11-का. मोहसिन खॉ स्वाट टीम, जनपद गोरखपुर।
12-का. शिवानन्द उपाध्याय स्वॉट टीम, जनपद गोरखपुर।
13-का. कुतुबुदीन स्वॉट टीम, जनपद गोरखपुर।
14-का. राकेश यादव स्वाट टीम, जनपद गोरखपुर।
15-का. विजय प्रकाश द्विवेदी स्वाट टीम, जनपद गोरखपुर।

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned