पत्नी ने पति को चारपाई से बांध किया आग के हवाले, पति ने भी...

 

शहर के पादरीबाजार क्षेत्र में मकान बनवा कर रहता था दंपत्ति

गोरखपुर। जिसे वह परमेश्वर का दर्जा देती थी, उससे जब आजिज हुई तो खौफनाक कदम उठाने से भी गुरेज नहीं किया। शहर की एक महिला पर पति को जिंदा जलाने का आरोप है। बताया जा रहा कि पारिवारिक कलह से परेशान होकर महिला यह कदम उठाने को मजबूर हुई। पूरे शरीर में लगी आग से चिल्ला रहे पति ने पत्नी को भी पकड़ लिया। झुलसे हालत में दोनों को मेडिकल काॅलेज में भर्ती कराया गया है। पति-पत्नी दोनों का इलाज चल रहा है। डाॅक्टर ने पति की हालत नाजुक बताई है। पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।
शाहपुर के भगतपुरवा के रामकलेश पासवान पादरीबाजार के मानस विहा काॅलोनी में मकान बनवा कर पत्नी मीना और दो बच्चों राजकुमार व रजनीश के साथ रह रहे थे। रामकलेश की शादी को करीब पंद्रह साल हो गए हैं। रामकलेश दिहाड़ी मजदूरी करते हैं। उनकी पत्नी मीना सिलाई, कढ़ाई का काम सीख रही थी। पड़ोसियों के मुताबिक पति-पत्नी में अक्सर विवाद होता रहता था। सोमवार को भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ। कुछ ही देर बाद अंदर से किसी के चीखने-चिल्लाने की आवाज आने लगी। लोग कुछ समझते इसके पहले ही दोनों बच्चे रोते हुए बाहर निकले और शोर मचाते हुए मदद की गुहार लगाने लगे। दौड़ते हुए लोग पहुंचे। बच्चों ने रोते हुए बताया कि उनके माता-पिता आग की चपेट में आ गए हैं।
आनन-फानन में पड़ोसी अंदर गए तो देखा कि दंपत्ति आग की चपेट में हैं और धूं-धूं कर जल रहे। पड़ोसियों के मुताबिक अंदर मिट्टी के तेल की बदबू भी आ रही थी।
किसी तरह आग को लोगों ने बुझाया। गंभीर रूप से झुलसे दंपत्ति को एंबुलेंस बुलाकर मेडिकल काॅलेज भेजवाया। मौके पर पहुंची पुलिस ने सबको बयान दर्ज किया।
पुलिस के अनुसार पत्नी मीना ने पति रामकलेश को जलाने की नीयत से चारपाई में बांध दिया और मिट्टी तेल उलेड़कर आग लगा दी। लेकिन जलते वक्त रामकलेश ने पत्नी को भी पकड़ लिया और दोनों के शरीर में आग पकड़ ली। बच्चों ने जब पड़ोसियों को बात बताई तो सब अंदर पहुंच दोनों की जान बचाई और पुलिस को भी खबर की।

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned