अवैध नर्सिंग होम व झोला छाप डाॅक्टरों की अब खैर नहीं, चलेगा अभियान


प्रमुख सचिव चिकित्सा,स्वास्थ्य व परिवार कल्याण ने दिया निर्देश

अवैध नर्सिंग होम संचालकों व झोला छाप डाॅक्टरों की अब खैर नहीं। स्वास्थ्य विभाग अब ऐसे लोगों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करेगा। गोरखपुर पहुंचे प्रमुख सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण देवेश चतुर्वेदी ने अभियान चलाने का आदेश दिया है। मातहतों को निर्देश दिया कि अवैध रूप से संचालित नर्सिंग होम तथा छोलाछाप डाॅक्टरो के विरूद्ध अभियान चलाकर प्रतिबंधित करते हुए उनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी जाये।

विकास भवन में दस्तक/संचारी रोग नियंत्रण माह की मंडलीय समीक्षा करते हुए प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हो तथा अस्पतालों की साफ सफाई दवाआें की उपब्धता, चिकित्सको की उपस्थिति बेहतर होनी चाहिए। स्वास्थ्य सेवाआें में किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नही होनी चाहिए। विषाणु जनित बीमारियों से बचाव आदि के विषय में सभी सम्बंधित विभाग आपसी समन्वय बनाकर कार्य करें और इन बीमरियो के लक्षण तथा उससे बचाव हेतु जन जागरूकता लाई जाये।
उन्होंने तैयारियों की जनपदवार विस्तृत समीक्षा की। जेई/एईएस प्रभावित गांवों में निरंतर फागिंग/छिड़काव कराने की बात कही। स्वच्छता अभियान के तहत साफ साफाई पर विशेष ध्यान रखने व तलाबाें के किनारे झाड़ियो की सफाई करने के भी निर्देश दिये।
प्रमुख सचिव ने स्वच्छ पेयजल के तहत इंण्डिया मार्का-2 हैण्डपम्प के जल का सेवन करने अथवा पानी में क्लोरीन की गोली डालकर पीने के निर्देश देते हुए कहा कि हैण्डपम्प के पास जल जमाव न हो इसके लिए ड्रेनेज सिस्टम अवश्य विकसित किये जाये।
प्रमुख सचिव ने कहा कि आशा स्वास्थ्य सेवा की मुख्य कड़ी होती है इसलिए आशा घर-घर जाकर इस बीमारी के सम्बंध में लोगों को बताये और जिस घर पर जाये उसे अपने रजिस्टर में अवश्य अंकित करे। उन्होंने स्पष्ट कहा कि जो आशा अपने दायित्व के प्रति निष्क्रिय पाई जाये उसे हटाकर सक्रिय आशा की तैनाती की जाये।
प्रमुख सचिव ने आयुष्मान भारत योजना को माईक्रो प्लान बनाकर उसके अनुरूप कार्य करने की सलाह दी ताकि कोई भी पात्र लाभार्थी योजना से लाभान्वित होने से वंचित न होने पाये।
मण्डलायुक्त जयन्त नार्लिकर ने दस्तक/संचारी रोग नियंत्रण माह के सम्बंध में की गयी तैयारियों से प्रमुख सचिव को विस्तृत रूप से अवगत कराया।
इस अवसर पर जिलाधिकारी के. विजयेन्द्र पाण्डियन सहित एडी हेल्थ, सीएमओ, सीएमएस तथा अन्य विभागाें के सम्बंधित अधिकारी गण उपस्थित रहें।

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned