लीबीया में तीन महीने से फंसा है महाराजगंज का युवक, पाकिस्तानी ठेकेदार कर रहा है प्रताड़ित

लीबीया में तीन महीने से फंसा है महाराजगंज का युवक, पाकिस्तानी ठेकेदार कर रहा है प्रताड़ित
भारतीय युवक को बनाया बंधक

Akhilesh Kumar Tripathi | Updated: 12 Jun 2019, 06:12:23 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

युवक के पिता ने डीएम व विदेश मंत्रालय को पत्र भेजकर पुत्र को सुरक्षित स्वदेश लाए जाने की मांग की है।

महाराजगंज. तीन महीने पहले काम के सिलसिले में लीबीया गये यूपी के एक युवक ने अपनी सुरक्षा को लेकर गुहार लगाई है । युवक ने वीडियो बनाकर अपने घरवालों को भेजा है, जिसमें उसने प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है । युवक के पिता ने डीएम व विदेश मंत्रालय को पत्र भेजकर पुत्र को सुरक्षित स्वदेश लाए जाने की मांग की है।

 

यह भी पढ़ें:

मलेशिया में अधिकारी बन नौकरी करने गया युवक करने लगा टॉयलेट साफ! - देखें वीडियो

 

महाराजगंज जिले के परतावल ब्लॉक के ग्राम श्यामदेउरवा का रहने वाला अजय मार्च में लीबीया गया था, वहां वह पाकिस्तानी ठेकेदार के यहां काम कर रहा था । जहां उसका खाना- पीना बंद कर दिया गया और खाना मांगने पर उसे प्रताड़ित किया जा रहा है । युवक ने अपना वीडियो बनाकर पिता अमेरिका चौहान के पास भेजा, जब जाकर मामले का खुलासा हुआ। युवक के पिता के अनुसार उनका पुत्र तीन माह पूर्व रोजगार के लिए लीबिया गया था, जिस पाकिस्तानी ठेकेदार के पास वह काम कर रहा था, उसने उसे भोजन-पानी देना बंद कर दिया। जब उनका बेटा ठेकेदार से भोजन-पानी मांग रहा है तो उसका उत्पीड़न किया जा रहा है। युवक ने व्हाट्सऐप के माध्यम से एक वीडियो भेजा है, वीडियो में उसने आपबीती सुनाई है। मामले में जिलाधिकारी अमरनाथ उपाध्याय ने कहा कि पीड़ित परिवार की हरसंभव मदद की जाएगी और विदेश मंत्रालय से संपर्क कर युवक को वापस भारत लाने की पहल होगी।

 

यह भी पढ़ें:

विदेश जाने के फेर में मलेशिया में फंसे देश के कई युवा

 

बता दें कि लीबीया में करीब 18 हजार से 20 हजार भारतीय रहते हैं । अप्रैल 2019 में लीबिया में सत्ता संघर्ष के चलते हालात बदतर हो गए थे, अप्रैल में 500 से ज्यादा भारतीय के फंसे होने के बाद तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पहल की थी, जिसके बाद कई भारतीय वहां से वापस अपने देश लौट आये थे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned