गोरखपुर में चलेगी तीन कार वाली लाइट मेट्रो, इतने सालों में बनकर होगा तैयार


योगी आदित्यनाथ ने रेलवे स्टेशन के पास ही मेट्रो स्टेशन बनाने को कहा

गोरखपुर में लाइट मेट्रो ट्रेन चलाई जाएगी। यहां तीन कार वाली मेट्रो का संचलन होगा। इसके लिए दो कारीडोर प्रस्तावित हैं। उधर, सीएम योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में मेट्रो स्टेशन यहां के रेलवे स्टेशन के पास ही रखने की बात कही है।

Read this also: बखिरा झील सहित यूपी के 12 वेटलैंड्स को मिलेगी अंतरराष्ट्रीय पहचान

गोरखपुर में लाइट मेट्रो के दो कारीडोर बनाए जाएंगे। सभी स्टेशन एलिवेटिड होंगे। इस पर करीब 4589 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। पहला कारीडोर श्याम नगर से एमएमएम इंजीनियरिंग कालेज तक 15.14 किमी लंबा होगा, इसमें 14 स्टेशन बनाए जाएंगे। एक अनुमान है कि इस मार्ग पर वर्ष 2024 में 1.55 लाख लोग इसमें रोजाना सफर करेंगे। ये संख्या वर्ष 2031 में बढ़कर 2.05 लाख होगी, जबकि अगले दस साल यानि वर्ष 2041 तक इसमें 2.73 लाख लोग रोजाना सफर कर सकेंगे।
दूसरा कारीडोर बीआरडी मेडिकल कालेज से नौसाद के बीच बनेगा, जो 12.70 किमी लंबा होगा, इसमें 12 स्टेशन प्रस्तावित हैं। अनुमान है कि वर्ष 2024 में 1.24 लाख लोग इसमें रोजाना सफर करेंगे। ये संख्या वर्ष 2031 में बढ़कर 1.73 लाख होगी, जबकि अगले दस साल यानि वर्ष 2041 तक इसमें 2.19 लाख लोग रोजाना सफर कर सकेंगे।

Read this also: भाजपा विधायक पर क्यों इंजीनियर्स लगा रहे गाली देने का आरोप

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मेट्रो से संबंधित प्रेजेंटेशन देखा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को मेट्रो से संबंधित कार्यों की प्रस्तुतीकरण देखा। सीएम ने कहा कि गोरखपुर में लाइट मेट्रो (एलआरटी) ज्यादा सफल होगी। उन्होंने मेट्रो रेल कारपोरेशन के एमडी को निर्देश दिया है कि गोरखपुर रेलवे स्टेशन के पास ही मेट्रो का स्टेशन बनाएं, जिससे यात्रियों को मेट्रो से उतर कर रेलवे स्टेशन जाने में सुविधा हो।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned