देश के सबसे लंबे एक्सप्रेसवे के बारे में जानिए क्या है इसकी खूबियां, प्रधानमंत्री पीएम मोदी के हाथों शिलान्यास

Dheerendra Vikramdittya

Publish: Jul, 14 2018 01:01:01 PM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 03:50:07 PM (IST)

Gorakhpur, Uttar Pradesh, India
देश के सबसे लंबे एक्सप्रेसवे के बारे में जानिए क्या है इसकी खूबियां, प्रधानमंत्री पीएम मोदी के हाथों शिलान्यास

Purvanchal Expressway Inauguration : चार धामों को जोड़ेगा यह एक्सप्रेसवे, पीएम मोदी करेंगे शिलान्यास, इमरजेंसी लैंडिंग भी कराई जा सकेगी

देश के सबसे एक्सप्रेसवे ‘पूर्वांचल एक्सप्रेसवे‘ की सौगात आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिल जाएगी। यह एक्सप्रेसवे पूर्वांचल में विकास के नए आयाम बनाएगा साथ ही मिशन 2019 के लिए बिछायी गई बिसात में महत्वपूर्ण कड़ी साबित होने जा रहा। देश का सबसे लंबा यह एक्सप्रेसवे गोरखपुर से भी लिंक होगा। एक्सप्रेस वे धार्मिक सर्किट भी बनाएगा। प्रदेश के चार धामों को इससे जोड़े जाने की योजना है। महत्वपूर्ण यह कि इस एक्सप्रेसवे पर भी विमानों की इमरजेंसी लैंडिंग हो सकेगी। यही नहीं इस एक्सप्रेसवे के दोनों तरफ औद्योगिक काॅरिडोेर भी होगा।

सूबे के चार धार्मिक स्थलों को जोड़ेगा एक्सप्रेसवे
प्रदेश का सबसे लंबा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे चार धार्मिक स्थलों को भी जोड़ेगा। इस एक्सप्रेस वे के निर्माण के बाद काशी, इलाहाबाद, अयोध्या और गोरखपुर सीधे तौर पर जुड़ जाएगा।


341 किलोमीटर का होगा यह एक्सप्रेस वे

गोरखपुर को लिंकरोड से जोड़ने वाला यह एक्सप्रेस वे यूपी के प्रमुख हिस्सों को जोड़ेगा। 341 किलोमीटर लंबा पूर्वांचल एक्सप्रेस लखनऊ, बाराबंकी, फैजाबाद, अंबेडकरनगर, अमेठी, सुल्तानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर, बनारस, बलिया से जुड़ेगा। इस एक्सप्रेसवे का लाभ गोरखपुरियों को भी मिलेगा। सीधे तौर पर तो यह एक्सप्रेसवे यहां नहीं आएगा लेकिन एक लिंकरोड के माध्यम से इसे गोरखपुर से जोड़ा जाएगा। गोरखपुर से यह एक्सप्रेसवे बेलघाट-कम्हरिया घाट पुल से जुडे़गा। गोरखपुर-जैतपुर-कम्हरिया घाट मार्ग पर फोरलेन बनाकर गोरखपुर जनपद को इस एक्सप्रेसवे से जोड़ा जाएगा।

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर भी हो सकेगी इमरजेंसी लैंडिंग

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे की तरह इस एक्सप्रेसवे पर भी एयर स्ट्रिप बनाया जाएगा। यहां भी विमानों की इमरजेंसी लैंडिंग हो सकेगी। इसके लिए सुल्तानपुर के कूडेभार ब्लाॅक में जगह चिंहित किया गया है। इस एक्सप्रेसवे को औद्योगिक काॅरिडोर से भी जोड़ने की प्रदेश सरकार की योजना है।

बजट में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के लिए धन आवंटित

यूपी के इस अतिमहत्वपूर्ण पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के लिए बजट में एक हजार करोड़ रुपये एलाॅट किया गया है। जबकि गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के लिए प्रारंभिक कार्य खातिर करीब 550 करोड़ रुपये प्रस्तावित है।

 

Ad Block is Banned