scriptMurtaza will remain in police custody till April 16 | GORAKHNATH TEMPLE ATTACK : 16 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में रहेगा मुर्तजा | Patrika News

GORAKHNATH TEMPLE ATTACK : 16 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी में रहेगा मुर्तजा

गोरखनाथ मंद‍िर सुरक्षा में लगे सुरक्षाकर्मियों पर हमला करने वाला अहमद मुर्तजा अब्बासी सोमवार को गोरखपुर की कोर्ट में पेश क‍िया गया। कोर्ट ने मुर्तजा की कस्‍टडी पांच द‍िन के ल‍िए बढ़ा दी है। मुर्तजा अब 16 अप्रैल तक पुल‍िस कस्‍टडी में रहेगा।

गोरखपुर

Published: April 11, 2022 02:01:29 pm

गोरखनाथ मंदिर में हुए हमले का मुख्य आरोपी मुर्तजा की पुलिस रिमांड कोर्ट ने बढ़ा दी है। सोमवार सुबह एटीएस ने मुर्तजा को गोरखपुर कोर्ट में पेश किया। जहां उसे फिर 16 अप्रैल तक पुलिस कस्टडी रिमांड में रखने का आदेश दिया है।
hamlavar.jpg
तीन अप्रैल की देर शाम गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में तैनात पीएसी के दो जवान पर मुर्तजा ने धारदार हथियार से हमला कर दिया था। गोरखनाथ थाने में उसके खिलाफ हत्या की कोशिश, सरकारी कार्य में बाधा डालने, सेवन सीएलए समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज है। चार अप्रैल को गोरखनाथ पुलिस ने मुर्तजा को कोर्ट में पेश कर पूछताछ के लिए कस्टडी रिमांड में मांगी थी।जिसे मंजूर करते हुए कोर्ट ने 11 अप्रैल की दोपहर दो बजे तक के लिए पुलिस कस्टडी रिमांड मंजूर की थी।पांच अप्रैल को मुकदमे की विवेचना एटीएस को ट्रांसफर हो गई जिसके बाद एटीएस उसे लेकर लखनऊ चली गिई।वहीं पर मुर्तजा उसके माता-पिता व करीबियों से पूछताछ की जा रही है।पूछताछ में सामने आए तथ्य के आधार पर एटीएस मुर्तजा की कस्टडी रिमांड बढ़ाने की मांग कर सकती है।शुक्रवार को एटीएस की ओर से कस्टडी रिमांड बढ़ाने के लिए कोर्ट में अर्जी दी गई थी।
मुर्तजा के बड़े पिता खालिद अब्बासी का नहीं दर्ज हुआ बयान-

अहमद मुर्तजा अब्बासी के बड़े पिता डा. खालिद अहमद अब्बासी रविवार की शाम को पुलिस कंट्रोल रूम के पास स्थित एटीएस कार्यालय में बयान दर्ज कराने पहुंचे। कार्यालय में मौजूद दारोगा व सिपाहियों ने बयान दर्ज करने से मना कर दिया। करीब 30 मिनट तक कार्यालय में रहने के बाद डा. अब्बासी घर लौट गए। एटीएस के उप निरीक्षक दिनेश कुमार पांडेय गोरखनाथ थाने में दर्ज हुए मुकदमे की विवेचना कर रहे हैं। शुक्रवार को विवेचक की ओर से मुर्तजा के बड़े पिता डा. खालिद अहमद अब्बासी को नोटिस भेजा गया कि तत्काल लखनऊ के नादरगंज स्थित एटीएस के मुख्यालय पहुंचकर अपना बयान दर्ज कराएं। अपने साथ आधार कार्ड, पहचान पत्र व निवास प्रमाण लेकर जांए। आदेश की अवहेलना पर आपके विरुद्ध विधिक कार्रवाई होगी।
गोरखपुर में दर्ज हो बयान

अपनी उम्र 65 साल होने की जानकारी देते हुए डाक्टर खालिद अब्बासी लखनऊ की जगह गोरखपुर कार्यालय पर बयान दर्ज कराने शनिवार की रात में पहुंच गए, लेकिन उन्हें लौटा दिया गया। इसके बाद उन्होंने एटीएस के एडीजी व एसएसपी को ईमेल कर बताया कि उनकी उम्र 65 वर्ष है। कानून के मुताबिक वरिष्ठ नागरिक होने के नाते उनसे पूछताछ/बयान उसी जिले में दर्ज किया जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारतपहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.