नेपाल में प्रवेश के लिए नई व्यवस्था से टूरिस्ट हलकान, अगर जा रहे तो जरूर जानें

नेपाल में प्रवेश के लिए नई व्यवस्था से टूरिस्ट हलकान, अगर जा रहे तो जरूर जानें

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 26 Jul 2019, 01:23:20 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

  • नियम बदलने से आने जाने वालों को उठानी पड़ रही दिक्कत( Nepal changes rules for entering in country)
  • काफी संख्या में टूरिस्ट आते हैं रोज नेपाल में( Tourism in Nepal), भारतीय व विदेशी टूरिस्टों से गुलजार रहता है नेपाल

नेपाल जाने वाले पर्यटकों (tourist in Nepal)को पिछले तीन दिनों से नई व्यवस्था की वजह से काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। टूरिस्टों को नेपाल में प्रवेश के पहले कस्टम शुल्क जमा करने में काफी दिक्कत हो रही है(Nepal change the rules for custom duty)। सोनौली के पास बेलहिया भंसार कार्यालय पर वाहनों का शुल्क नहीं जमा होने से दिक्कतें हो रही है। अब टूरिस्टों को वाणिज्य बैंक में शुल्क जमा (Custom duty will deposit in Connerce bank)करने के लिए भागदौड़ करनी पड़ रही।

यह भी पढ़ें:

नेपाल जाने वाले टूरिस्टों को वाहनों (Nepal tourism rules) आदि का कस्टम शुल्क पहले भंसार कार्यालय पर जमा करना होता था। लेकिन बीते मंगलवार से नेपाल ने नए नियम लागू कर दिए हैं। अब भंसार कार्यालय पर भंसार नहीं जमा कर वाणिज्य बैंक में इसे जमा करना होगा। सोनौली के रास्ते नेपाल जाने वाले टूरिस्टों (Tourist going to nepal via sonauli)को पहले नेपाल के बेलहिया भंसार कार्यालय (Nepal belahnia office) में ही कस्टम शुल्क जमा कर आगे बढ़ जाना होता था लेकिन अब नए नियम की वजह से उनको वाणिज्य बैंक की शाखा में जाना पड़ रहा है। इस वजह से काफी लोगों को भटकना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें- क्रिकेट का गेंद ढूंढ़ रहे युवक को पूर्वांचल के चर्चित उद्योगपति के कैंपस में गोली मारी गई, हालत नाजुक

बैंक शाखा में शुल्क जमा करने में घंटों घंटों लग जा रहा है। लंबी लंबी कतारों में खड़े होकर काफी इंतजार के बाद नंबर आ रहा है। विदु्रप यह कि इस वजह से सड़क पर वाहनों की कई कई किलोमीटर कतार लग जा रही। यहां से रसीद लेकर वापस भंसार आफिस आना पड़ रहा, फिर वाहन के प्रवेश के लिए कागज बनाना पड़ रहा।
उधर, इस नए नियम पर नेपाल प्रशासन का कहना है कि भंसार पर टूरिस्टों (Tourists in Nepal)को काफी दिक्कतें होती थी। कई टूरिस्ट ठगी के भी शिकार हो जाते थे इसलिए नियमों में बदलाव किए गए हैं।

यह भी पढ़ें- रेलवे में पुरुष के रूप में राजेश ने पार्इ थी नौकरी, अब बन चुका है सोनिया

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned