गोरखपुर उपचुनावः सपा खेलेगी डाॅ.संजय निषाद के पुत्र पर दांव, निषाद दल से बनी बात

Dheerendra Vikramdittya

Publish: Feb, 15 2018 07:56:30 PM (IST)

Gorakhpur, Uttar Pradesh, India
गोरखपुर उपचुनावः सपा खेलेगी डाॅ.संजय निषाद के पुत्र पर दांव, निषाद दल से बनी बात

दो लोग थे सपा के टिकट की दौड़ में, गठबंधन होने के बाद एक नाम पर बनी सहमति, जल्द पूर्व सीएम अखिलेश यादव करेंगे ऐलान

गोरखपुर। संसदीय उपचुनाव गोरखपुर को जीतने के लिए समाजवादी पार्टी फूंक-फूंककर कदम बढ़ाने जा रही। मुख्यमंत्री की छोड़ी गई सीट को जीतकर वह बड़ा राजनैतिक संदेश देने की जुगत में है। सपा इस बार गोरखपुर संसदीय उपचुनाव में किसी निषाद नेता पर अपना दांव लगाने जा रही। कई छोटे दलों के साथ एका सहमति होने के बाद अब निषाद दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ.संजय निषाद के सुपुत्र संताष निषाद को सपा अपना उम्मीदवार बनाने जा रही। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव प्रत्याशी के नाम का ऐलान करेंगे।
पार्टी सूत्रों की अगर मानें तो अभी कुछ दिनों पहले तक पूर्व मंत्री रामभुआल निषाद को इशारा कर दिया गया था लेकिन कुछ हफ्तों से विपक्षी एका के नाम पर बन रहे नए राजनैतिक समीकरण में एक और नाम इसमें जुड़ गया है। वह है निषाद दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष डाॅ.संजय निषाद के सुपुत्र संतोष निषाद का नाम। पार्टी के उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार पूर्व मंत्री रामभुआल निषाद पार्टी की पहली पसंद हैं। लेकिन नए समीकरण में डाॅ.संजय निषाद के पुत्र संतोष निषाद को पार्टी अपना प्रत्याशी बनाने जा रही है। राजनैतिक जानकार बताते हैं कि गोरखपुर संसदीय क्षेत्र निषाद बाहुल्य क्षेत्र है। निषाद दल बीते कुछ सालों में जातिय एकता के लिए काफी काम किया है। बीते विधानसभा चुनाव में इस पार्टी का प्रभाव भी दिखा। विपक्ष को चुनाव जीतने के लिए पिछड़े वर्ग के अलावा इस समुदाय का वोट बेहद जरूरी है। विपक्ष की रणनीति यह है कि किसी भी सूरत में निषाद वोटों का बंटवारा न हो। ऐसे में डाॅ.संजय निषाद को सपा अपने पाले में करने की कोशिश में थी।
सूत्रों की मानें तो इसके लिए कई दौर में बातचीत भी हो चुकी है। बातचीत सकरात्मक दिशा में बढ़ रही। बृहस्पतिवार को पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सभी मुद्दों पर सहमति बन चुकी है। अब केवल नाम का ऐलान होना बाकी है।
जानकार बताते हैं कि विपक्षी रणनीतिकार यह मानते हैं कि सपा के पास यादव व मुस्लिम समुदाय का वोट बैंक है ही। अगर निषाद समुदाय का वोट भी एकमुश्त मिल जाए तो उपचुनाव में परिणाम अपनेे पक्ष में किया जा सकता है।
ऐसे में डाॅ.संजय निषाद के पुत्र इंजीनियर संतोष निषाद के नाम पर सपा ने हामी भर दी है। सपा अपने सिंबल पर इस निषाद नेता के पुत्र को उपचुनाव लड़ाएगी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned