खाना खाकर पुलिस का यह अधिकारी टहल रहा था, दो लोग बाइक से आए और कर दिया ऐसा काम कि...


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शहर गोरखपुर की घटना

गोरखपुर। यूपी में कानून-व्यवस्था पर सरकार से लेकर पुलिस तक बखान कर रही है लेकिन आपराधिक और दुस्साहसिक वारदातों में कोई कमी देखने का नहीं मिल रही है। मुख्यमंत्री के शहर में जब पुलिस ही सुरक्षित नहीं तो आमजन खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करे यह यक्ष प्रश्न है। शहर के सबसे पाॅश इलाके से झपट्टा मारों ने एक पुलिस अधिकारी की मोबाइल सरेआम उड़ा दी। जब तक वह उनको दौड़ाकर पकड़ते तबतक वे रफूचक्कर हो गए।
दरअसल, सीओ कैंपियरगंज का सरकारी आवास गोरखपुर शहर के सबसे पाॅश क्षेत्र सिविल लाइन्स एरिया में है। सोमवार की देर रात में सीओ कैंपियरगंज प्रभात राय खाना खाने के बाद सड़क पर टहल रहे थे। इसी बीच किसी का फोन आया तो वह मोबाइल फोन से बात करते हुए टहलने लगे। आवास के पास सड़क पर कुछ दूर ही गए थे कि पीछे से बाइक सवार दो बदमाश उनके पास तेजी से आए। अभी सीओ कैंपियरगंज कुछ समझ पाते कि एक बदमाश ने फुर्ती के साथ उनकी हाथ से मोबाइल झपटा और फिर बाइक को दूसरे ने तेज गति दी और निकल गए। मोबाइल छीनने की अप्रत्याशित घटना से संभले सीओ ने पहले तो दोनों बदमाशों को दौड़ाया लेकिन तेजी से भागने की वजह से वह हाथ नहीं आ सके। इसके बाद तत्काल आसपास वायरलेस कराया। घेराबंदी कराई। पुलिस द्वारा जगह-जगह चेकिंग शुरू हो गई। कई घंटों की मशक्कत के बाद भी बदमाश पुलिस के हाथ न लग सके।
हालांकि, पुलिस की घेराबंदी से घबराए बदमाश अपनी बाइक छोड़कर भाग लिए थे। पुलिस को बदमाशों की गाड़ी मिल गई है। बाइक के नंबर से पुलिस उनकी तलाश में लगी है।
लेकिन पुलिस अधिकारी के साथ घटी इस घटना की चर्चा चहुंओर है। सबकी जुबान से यही निकल रहा कि जब पुलिस वालों की मोबाइल की छिनैती हो जा रही तो आमजन कैसे अपने सामान बचाएगा।

Show More
धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned