Science Park पूर्वांचल का पहला विज्ञान पार्क बनेगा इस शहर में, गाजियाबाद में है यूपी का पहला विज्ञान पार्क

Science Park पूर्वांचल का पहला विज्ञान पार्क बनेगा इस शहर में, गाजियाबाद में है यूपी का पहला विज्ञान पार्क

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 26 Jul 2019, 04:52:29 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

  • विज्ञान पार्क (Science Park) के लिए नगर विधायक विधायक ने डिप्टी सीएम से की मुलाकात
  • हड़प्पा सभ्यता के दौरान नगरीय नियोजन से लेकर गणितीय सूत्रों की महान खोजों से रूबरू हो सकेंगे लोग
  • गोरखपुर की नक्षत्रशाला में विज्ञान पार्क बनाने का प्रस्ताव (first Science park of east UP in Gorakhpur)

गोरखपुर में जल्द ही विज्ञान पार्क मूर्तरूप लेने जा रहा है( East UP fist Science Park will establish in Gorakhpur)। शहर के नक्षत्रशाला परिसर में विज्ञान पार्क बनवाया जाएगा( Science park will be construced in Planetariam premise)। इस पार्क के माध्यम से विज्ञान के गौरवशाली इतिहास को जाना जा सकेगा तो वैज्ञानिक खोजों को आसान तरीके से विज्ञान के विद्यार्थी समझ सकेंगे। शहर विधायक डाॅ.राधामोहन दास अग्रवाल (MLA Dr.RMD Agarwal met deputy CM Dr.Dinesh Sharma for Science Park) की पहल पर यूपी के डिप्टी सीएम/विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डाॅ.दिनेश शर्मा ने इसके लिए सहमति दी है।

शहर के तारामंडल क्षेत्र में नक्षत्रशाला(Veer Bahadur Singh Planetariam) स्थित है। यहां हर रोज गोरखपुर और आसपास के जिलों के विद्यार्थी इस नक्षत्रशाला में आते हैं। विज्ञान के विभिन्न आयाम से परिचित होते हैं। क्षेत्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी केन्द्र (Science and Technology Center)द्वारा संचालित इस नक्षत्रशाला परिसर में करीब डेढ़ एकत्र जमीन खाली है। इसी जमीन पर विज्ञान पार्क विकसित करने की योजना है( Science park will develop on Planetarium unused Land)

यह भी पढ़ें- कुछ फीट जमीन के लिए पांच लोगों को काट डाला था, अब आया यह फैसला

विज्ञान पार्क के माध्यम से विज्ञान में प्रति बढ़ेगी रूचि

नगर विधायक डाॅ.राधामोहन दास अग्रवाल(MLA Dr.RMD Agarwal) विज्ञान पार्क (Science park)के बारे में बताते हैं कि इस विज्ञान पार्क में भारत की प्राचीन गौरवशाली वैज्ञानिक उपलब्धियों के साथ ही जेसी बोस, रामानुजन, सीवी रमन, बीरबल साहनी, मेघनाथ साहा, होमी जहांगीर भाभा, विक्रम साराभाई, एसएन बोस आदि भारतीय वैज्ञानिकों की उपलब्धियां एवं कार्य प्रदर्शित होंगे।
यही नहीं यह पार्क नागरिकों में वैज्ञानिक सिद्धांतों को लोकप्रिय करेगा, समाज में तार्किक विश्लेषण क्षमता विकसित करने के साथ ही उन्हें प्रयोगात्मक गतिविधियों और नवाचार की ओर प्रेरित करेगी। उन्होंने बताया कि विज्ञान-तकनीकी-ऊर्जा-पर्यावरण के मानव जीवन से समन्वय स्थापित करेगी। पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र होगी।
उन्होंने बताया कि इस पार्क में आकर हम अपने प्राचीन गौरवमयी खोजों के बारे में भी जान सकेंगे। अभी भी देश में नयी पीढ़ी सुश्रुत के शल्य उपकरणों, सुल्व सूत्र ( आधुनिक पाइथागोरस प्रमेय ), भारतीय भार और मापन प्रणाली, वृत के क्षेत्रफल के भारतीय अवधारणा, शून्य-दशमलव-शब्द अंकों की खोज, भारतीय जल-प्रबन्धन विज्ञान, प्राचीन वस्त्रों, हड़प्पा के नगर नियोजन से अनभिज्ञ है। यह पार्क ऐसी तमाम जानकारियों से लैस होगा।

यह भी पढ़ें- नेपाल में प्रवेश के लिए नई व्यवस्था से टूरिस्ट हलकान, अगर जा रहे तो जरूर जानें

प्रस्ताव शासन स्तर पर, जल्द मिलेगी स्वीकृति

पूर्वांचल के गोरखपुर में विज्ञान पार्क (Science park in gorakhpur)बनाने का प्रस्ताव शासन को भेज दिया है। क्षेत्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी केंद्र गोरखपुर ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद को प्रस्ताव भेज दिया है। गोरखपुर की नक्षत्रशाला में स्थित करीब डेढ़ एकत्र भूमि पर विज्ञान पार्क का निर्माण कराया जाएगा। नगर विधायक डाॅ.राधामोहन दास अग्रवाल ने डिप्टी सीएम से मिलकर इसकी स्वीकृति के लिए बात की। बता दें कि यह पार्क 2.07 करोड में बनकर तैयार होगा।

यह भी पढ़ें- यूपी के दस हजार युवक युवतियों को मिलेगा प्रशिक्षण, दुर्गम क्षेत्रों में आपदा के दौरान मदद को तैयार होंगे ‘आपदा मित्र’

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned