पुलिसवालों ने नहीं एमआर ने किया युवती को अगवा कर गैंगरेप!

Kidnapping and gangrape in CM city

  • शहर के नाटकीय ढंग से पकड़ा गया एक आरोपी एमआर
  • एसएसपी ने पत्रकारवार्ता कर किया खुलासा

युवती को अगवा कर रेप किये जाने के मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार मेडिकल पेशे से जुड़े दो लोगों ने युवती संग रेप किया है। दोनों मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव हैं। पुलिस का दावा है कि सीसीटीवी फुटेज से चेहरे का मिलान करा कार्रवाई की गई है। नाटकीय ढंग से शहर के हड़हवा फाटक के पास से एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया है।

उधर पुलिस के इस दावे व खुलासा के बाद पीड़िता की कहानी पूरी तरह बदल गई है। पीड़िता ने बयान दिया था कि दो पुलिसवालों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया और मारपीट की।

रविवार की शाम एसएसपी ने किया खुलासा

रविवार की शाम को एसएसपी डॉ.सुनील गुप्ता ने जानकारी दी कि गोरखनाथ क्षेत्र से एक युवती के बलात्कार की घटना में शामिल एक अभियुक्त गिरफ्तार किया गया है। घटना में प्रयुक्त मोटर साईकिल भी बरामद कर लिया गया है।

एसएसपी ने बताया कि घटना में शामिल अभियुक्तो की गिरफ्तारी के लिये पुलिस की तीन टीम लगाई गई थी।

एसएसपी ने बताया कि पीड़िता द्वारा दिखाया गया घटना स्थल होटल आदर्श पैलेस का कमरा नम्बर 108 का सघन निरीक्षण एवं सूचना संकलन के क्रम में घटनास्थल पर लगे विभिन्न सीसीटीवी कैमरो को खंगाला गया जिसमें फुटेज मे पीड़िता के साथ एक संदिग्ध व्यक्ति लिफ्ट से कमरे मे जाते हुए दिखायी दिया। पुलिस के अनुसार पीड़िता के साथ आरोपी होटल के कमरा नम्बर 108 में ठहरे हुए थे। एसएसपी ने बताया कि अभी पुलिस होटल से डिटेल लेकर सबकी तलाश में लगी थी कि मुखबिर से एक महत्वपूर्ण जानकारी मिली।

एसएसपी के अनुसार मुखबिर ने सूचना दी कि घटना में शामिल फोटो वाला संदिग्ध पल्सर बाइक से हुमायूंपुर से हड़हवा फाटक की ओर जा रहा। इस सूचना के बाद पुलिस बाइक चेक करना शुरू कर दी। उसी दौरान पल्सर वाले आते दिखे जो पुलिस को देख भागने लगे। इनको गिरफ्तार कर पुलिस ने पूछताछ शुरू की। पकड़ा गया व्यक्ति बलिया का रहने वाला आलोक सिंह बताया जा रहा। वह मेडिकल पेशे से जुड़ा था। फिलहाल वह शाहपुर में रहता था।

पुलिस के अनुसार आरोपी ने अपना जुर्म स्वीकार कर लिया है।

पुलिस ने बताई यह कहानी

एसएसपी के अनुसार वाराणसी का रहने वाला आशीष सिंह एक दवा कम्पनी का एमआर है। 12 फरवरी को वह गोरखपुर आया था। रेलवे स्टेशन पर स्थित आदर्श होटल के रूम नम्बर 108 में ठहरा था। बलिया के खेजुरी थाना के अजनेरा गांव का आलोक कुमार सिंह भी एमआर है। वह गोरखपुर के शाहपुर क्षेत्र में धर्मपुर में किराया का मकान लेकर रहता है। पुलिस के अनुसार दोनों पहले एक ही कम्पनी में काम करते थे इसलिए उनमें पहले से परिचय था। 14 फरवरी को आशीष सिंह ने आलोक को बुलाया था। घटना के दिन दोनों बरगदवा क्षेत्र से लौट रहे थे। रास्ते में उनको युवती मिली। एक ने युवती को बाइक पर बैठने के लिए कहा। पुलिस के अनुसार आलोक खाकी रंग की जैकेट और शर्ट पहना था। आलोक की कद-काठी सिपाहियों की तरह है। युवती डर कर बाइक पर बैठ गई। दोनों उसे आदर्श होटल के कमरा नम्बर 108 में ले गए। आशीष बाहर ही रुक गया आलोक उसे अपने साथ कमरे में ले गया इसलिए युवती के साथ आलोक की ही सीसी फुटेज आई।

पीड़ित युवती की यह है आपबीती

जानकारी के मुताबिक शहर के शाहपुर इलाके की रहने वाली 24 वर्षीय युवती ट्यूशन पढ़ाती है। वह अपने चार भाई-बहनों में सबसे छोटी है। बताया जा रहा कि गुरुवार को वह अपनी मां के साथ दवा कराने गई थी, इसके बाद वह बहन के घर गई थी। युवती के मुताबिक माँ और वह रात में घर के लिए निकली। युवती के अनुसार उसकी माँ भी पीछे पीछे आ रही थी। इसी दौरान उसके पास दो सिपाही आये। बकौल युवती, सिपाही बोले तुम धंधा करती हो। और उसे बाइक पर बिठा लिए। पीड़िता के मुताबिक जब उसकी माँ साथ चलने को बोली तो उसे गाली देकर भगा दिया। पीड़िता के मुताबिक दोनों सिपाही उसे जबरिया रेलवे स्टेशन के पास स्थित एक कमरे में ले गए। वहां दोनों ने दुष्कर्म किया। जब उसने घर जाने देने की बात कही तो दोनों उसे बुरी तरह पीटने लगे। बाद में रात करीब एक बजे 600 रुपये देकर जाने को कहा। युवती ने जब कहा कि घर कैसे जाएंगे, तो वह फिर गाली देने लगे और भगा दिया।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned