इस तरह बदल रही यूपी वालों की जिंदगी, यह योजनाएं साबित हो सकती हैं चेंजमेकर


संभावनाओं का नया साल बेहतरी का कारवां लेकर निकल पड़ा

यूपी में तमाम योजनाएं ऐसे लोगों की बेहतरी में सहायक बनने में सफल रहीं। हालांकि, अभी भी समाज के सबसे निचले पायदान पर खड़े हरेक इंसान के पास इस विकास यात्रा को ले जाना शेष है। संभावनाओं को नया साल शायद इस कोशिश को पूर्णरुप से साकार कर सके।

-आेडीआेपी के तहत स्वरोजगार इन दिनों लोगों की जिंदगियों को बेहतर कर रहा।

- धन के अभाव में चिकित्सीय सुविधा का अभाव झेल रहे गरीबों को आयुष्मान भारत योजना से प्राइवेट अस्पतालों में भी गरीब गोल्डेन कार्ड पर कैशलेस इलाज की सुविधा पा रहे।

-किसान सम्मान निधि से किसान अपनी जरूरतों को पूरा कर पा रहे। खाद-बीज आदि खरीदने के लिए उनको उधार के लिए भटकना नहीं पड़ रहा।

-हर गरीब के घर में रसोई गैस पहुंचने से सबसे अधिक सुविधा ग्रामीण महिलाओं को लकड़ी या कोयले के धुएं से निजात मिला।

-यूपी की गरीब बेटियों की शादी योजना से दिहाड़ी मजदूरों को बिटिया की शादी को दहेज या शादी के खर्च के लिए रकम जुटाने के लिए कर्ज लेना नहीं पड़ रहा।

-पीएम आवास योजना के साथ प्रदेश में मुख्यमंत्री आवास योजना गरीबों को छत मुहैया करा उनके जीवन में नया सवेरा ला रही।

-इंसेफेलाइटिस से इस साल मौतों की संख्या कम रही तो इसकी चपेट में आने वालों की संख्या में भी अप्रत्याशित कमी आई है।

-वनटांगिया परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना से पक्का छत तो सड़क, बिजली, पेयजल जैसी सुविधाओं का लाभ भी मिल रहा। जमीन का भी अधिकार मिल गया।

-दिहाड़ी मजदूरी करने वालों को श्रम विभाग में रजिस्ट्रेशन कराने पर किट तो मिला ही रहा जीवन बीमा भी कराया गया।

up2020.jpg

-हवाई जहाज से यात्रा करना आसान हुआ ही साथ ही शहरों के बीच भी कनेक्टिविटी हुई। कभी एक अदद उड़ान के लिए तरह रहे शहरों से अब हर बड़े शहर से एयर कनेक्टिविटी हो रही।

-सरकार की मदद से घर घर बन रहे शौचालय तमाम परिवारों में रिश्तों को टूटने से बचा रहा।

- खाते में सब्सिडी आने से अब न तो सिलेंडर मांगना पड़ता है न ही मिलने वाले सिलेंडर में गोलमाल होता।

- दो बंद पड़ी चीनी मिलों के पुनरुद्धार होने से लाखों किसानों के जीवन में बदलाव के संकेत शुरू हो गए हैं। मुंडेरवा व पिपराइच चीनी मिलों के चलने से प्रत्यक्ष तौर पर करीब एक लाख किसान लाभान्वित होंगे।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned