गोरखपुर जेल में इस वजह से कैदियों में गुस्सा, डिप्टी जेलर व सिपाहियों की पिटार्इ की वजह भी सामने आर्इ, अधिकारी मौन

गोरखपुर जेल में इस वजह से कैदियों में गुस्सा, डिप्टी जेलर व सिपाहियों की पिटार्इ की वजह भी सामने आर्इ, अधिकारी मौन
कैदी की बेवजह पिटाई, खराब खाना से आक्रोशित थे कैदी, कुछ अफसरों की मनमानी बना बवाल का कारण

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 11 Oct 2019, 02:21:24 PM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

कई घंटे जेल रहा कैदियों के कब्जे में, पगली घंटी बजने के बाद कई थानों की पुलिस ने संभाला मोर्चा

गोरखपुर जेल में पुलिस की मनमानी से कैदियों का गुस्सा भड़का। करीब दो घंटे तक कैदियों के कब्जे में रहे जेल से पूरा पुलिस प्रशासन सकते में आ गया था। हालांकि, अंदर पहुंची पुलिस फोर्स ने बल प्रयोग कर स्थिति को काबू में किया। कैदी भी काफी देर पर पुलिस पर भारी पड़े। बातचीत के दौरान कैदियों ने पुलिस द्वारा बेवजह पिटाई का आरोप लगाने के साथ साथ खाने की गुणवत्ता की भी शिकायत की है। कैदियों ने जिला प्रशासन को अपनी मांगों को बताया। फिलहाल पुलिस या प्रशासन को कोई अधिकारी इस बाबत खुलकर बात करने से कतरा रहा है।

Read this also: गोरखपुर जेल में कैदियों ने की डिप्टी जेलर व कई सिपाहियों की पिटाई, पथराव, बवाल

मामला यह था कि पेशी से लौटने के बाद गुरुवार को कुछ कैदियों ने हंगामा कर दिया। इससे खार खाए एक पुलिस अधिकारी ने जेल में बैरक नंबर एक में कुछ सिपाहियों के साथ मिलकर कोईल यादव नामक एक कैदी की बुरी तरह पिटाई कर दी। बचाव कर रहे साथी कैदियों को भी इन लोगों ने नहीं बख्शा। इस घटना के बाद कैदी बेहद आक्रोशित थे। सुबह सवेरे जब कैदियों को बैरक से निकाला जा रहा था उसी वक्त आक्रोशित कैदियों ने डिप्टी जेलर प्रभाशंकर पांडेय व अजय सिंह सहित चार सिपाहियों पर हमला बोल दिया। इनकी पिटाई शुरू कर दी। कैदियों के इस हमले से बंदी रक्षकों ने किसी तरह डिप्टी जेलर व सिपाहियों को बचाया। इन सभी को जेल अस्पताल में ही भर्ती कराया गया। जेल में तैनात पुलिस ने जब बल प्रयोग किया तो कैदी इन पर भारी पड़ गए। जेल में भारी बवाल होने लगा। पथराव की भी सूचना है।

Read this also: यूपी कांग्रेस अध्यक्ष का चार्ज लेंगे आज अजय लल्लू, कुशीनगर से बस से हुए रवाना

कैदी की बेवजह पिटाई, खराब खाना से आक्रोशित थे कैदी, कुछ अफसरों की मनमानी बना बवाल का कारण

हालात बेकाबू होते देख तत्काल जेल की पगली घंटी बजाई गई। इसके बाद कई थानों की पुलिस पहुंच गई। जिला प्रशासन पुलिस के अधिकारी भागे जेल पहुंचे। पुलिस अंदर घुसी। धीरे-धीरे पोजीशन लेने के बाद बल प्रयोग कर हालात को काबू में किया गया। फिर अफसरों ने कैदियों से बातचीत की। बातचीत में कैदियों की बेवजह पिटाई व खाने की खराब गुणवत्ता सहित कई मुद्दों पर कैदियों ने नाराजगी जताते हुए सुधार की मांग की। प्रशासन ने जांच कर आवश्यक कार्रवाई की बात कही। फिलहाल, स्थिति तनावपूर्ण परंतु नियंत्रण में बताई जा रही है।

Read this also: बिग बाॅस सीरियल पर अश्लीलता व लव जेहाद का आरोप, सल्लू मियां भी फंसे!

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned