प्रोफ़ेसर के बेटे पर दोस्त के क़त्ल का आरोप, अब पुलिस ने प्रोफ़ेसर को भी बना दिया आरोपी

Dheerendra Vikramdittya

Publish: Nov, 14 2017 12:49:59 (IST)

Gorakhpur, Uttar Pradesh, India
प्रोफ़ेसर के बेटे पर दोस्त के क़त्ल का आरोप, अब पुलिस ने प्रोफ़ेसर को भी बना दिया आरोपी

उधार मांगने पर प्रॉपर्टी डीलर दोस्त का कर दिया था कत्ल, पुलिस ने किया खुलासा

गोरखपुर। उधारी के रुपये मांगने पर चुकाने की बजाय दोस्त की हत्या करने के मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस ने आरोपी राहुल राय के प्रोफ़ेसर पिता को भी इस मामले में आरोपी बना दिया है। उधर, हत्या के आरोपी बनाए गए शिक्षक प्रो.आरडी राय ने इसे पुलिस की साजिश करार दी है।
पुलिस के अनुसार मृतक योगेश दत्त पांडेय के भाई की तहरीर के मुताबिक आरोपी के नाम जोड़े गए हैं। प्रो.आरडी राय दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विवि के प्रोफ़ेसर हैं।

यह है मामला
महेवा शिवपुरी कालोनी निवासी योगेश दत्त पाण्डेय की शनिवार की शाम को कैम्पियरगंज थाना क्षेत्र के राजपुर गांव के सहजनवा टोला में जंगल में लाश मिली थी। गमछे से बांध कर प्लास्टिक में लपेट कर शव को फेंका गया था। शव मिलने के कुछ घण्टे बाद पुलिस ने पहचान कराई। जांच में जुटी पुलिस ने योगेश की पत्नी के बयान के आधार पर लिटिल स्टार एकेडमी के डायरेक्टर राहुल राय को हिरासत में लिया। पत्नी ने ही पुलिस को बताया था कि राहुल राय से उधार का पैसा लेने को उनके घर गए हैं।
इसी आधार पर पुलिस ने दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के प्रो. आरडी राय के पुत्र राहुल राय को दोस्तों के साथ मिलकर दोस्त का कत्ल किये जाने के आरोप में गिरफ्तार किया।
पुलिस के अनुसार, उधार के रुपये मांगने उसके स्कूल आये प्रॉपर्टी डीलर दोस्त योगेश दत्त पांडेय की हत्या अपने साथियों के संग मिलकर कर दी। लाश छिपाने का भी पूरा प्रयास किया, लेकिन शनिवार को लाश बरामद होने के बाद पुलिस ने जांच तेज कर दी।

स्कूल कार्यालय में हुई हत्या
शुरुआती दौर के पूछताछ में राहुल राय व उसका दोस्त टूट गये। जुर्म कबूल कर चुके राहुल के मुताबिक योगेश दत्त पाण्डेय को पैसा देने के लिए राहुल ने बुलाया था। कर्मचारी राहुल पाण्डेय और राहुल यादव के साथ मिलकर योगेश की हत्या कर दी थी। रात में चारपहिया वहां से ले जाकर शव को कैम्पियरगंज के जंगल में ठिकाने लगा दिया था।

सीसी कैमरे से खुला राज
स्कूल के बगल में स्थित पूर्व पार्षद संजय यादव के यहां लगे सीसी कैमरे से पुलिस को सुराग मिला। योगेश अपनी बाइक से स्कूल में घुसा, लेकिन बाहर नहीं आया। उसी आधार पर पुलिस ने राहुल रॉय से पूछताछ शुरू की। हत्या में बारे में साथियों में शामिल होने की बात भी कबूल ली।

22 लाख की है देनदारी
राहुल पर योगेश की 22 लाख रुपये की देनदारी है। वह अपनी पत्नी को बताकर राहुल के घर निकल था। लेकिन जब वह रात तक घर नहीं आया तो उसकी खोजबीन शुरू हुई। इस बाबत खोराबार थाने में तहरीर दी गई थी, उसमें राहुल राय का जिक्र था। हालांकि बाद में पुलिस ने दूसरी तहरीर लिखवाकर राहुल राय का नाम निकलवा दिया था।

बीएससी टॉपर है राहुल, प्रोफसर के पुत्र हैं
पिता प्रो. आरडी राय गोरखपुर विश्वविद्यालय में शिक्षक हैं। उनकी मां एडी इण्टर कालेज में शिक्षिका थीं। राहुल खुद बीएससी टॉपर है। राहुल की पत्नी महराजगंज में प्राथमिक शिक्षिका हैं।

रिटायर रेलकर्मी का बेटा था योगेश
बेलीपार के नाउरदेउर गांव निवासी रिटायर रेलकर्मी जटाशंकर पाण्डेय ने खोराबार के महेवा मण्डी शिवपुरी कालोनी में मकान बनवा कर परिवार और दोनों बेटे (योगेश और गंगेश) के साथ रहते हैं। योगेश दत्त पाण्डेय उनका बड़ा बेटा था। योगेश के दो बच्चे (15 वर्षीय आराधना और 12 वर्षीय हर्ष) हैं।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned