scriptup me kal se night karfu | ओमिक्रॉन के डर से लौटने लगी पाबंदिया,25 दिसंबर से नाइट कर्फ्यू | Patrika News

ओमिक्रॉन के डर से लौटने लगी पाबंदिया,25 दिसंबर से नाइट कर्फ्यू

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे और कोविड-19 की तीसरी लहर को देखते हुए उत्तर प्रदेश में कल यानी 25 दिसंबर से नाइट कर्फ्यू लगेगा। 25 दिसंबर से रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक हर रोज यूपी में नाइट कर्फ्यू लगेगा।

गोरखपुर

Updated: December 24, 2021 02:07:13 pm

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे और कोविड-19 की तीसरी लहर को देखते हुए उत्तर प्रदेश में कल यानी 25 दिसंबर से नाइट कर्फ्यू लगेगा। 25 दिसंबर से रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक हर रोज यूपी में नाइट कर्फ्यू लगेगा। इसके साथ ही गोरखपुर में भी प्रशासन ने नाइट कर्फ्यू की तैयारी तेज कर दी है। इसके साथ ही गोरखपुर स्वास्थ्य विभाग ने जांच के लिए नमूनों की संख्या बढ़ा दी है।
night_curfew_1.jpg
सरकार ने जारी की नाइट कर्फ्यू को लेकर गाइडलाइंस-
उत्तर प्रदेश सरकार ने नाइट कर्फ्यू के ऐलान के साथ ही इसको लेकर गाइडलाइंस की भी घोषणा कर दी है। गाइडलाइन के अनुसार, रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी, हालांकि इस दौरान इमरजेंसी सेवाएं जारी रहेंगी. गाइडलाइन के अनुसार, शादी-विवाह आदि सार्वजनिक आयोजनों में कोविड प्रोटोकॉल के साथ अधिकतम 200 लोगों के भागीदारी की अनुमति होगी, लेकिन आयोजनकर्ता को इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को देनी होगी।
जानकारी के मुताबिक कोरोना की संभावित तीसरी लहर से पहले, स्वास्थ्य विभाग ने जांच का दायरा फिर से बढ़ाना शुरू कर दिया है। रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बस स्टेशन पर जांच बूथ बना दिए गए हैं। विभाग का दावा है कि इन स्थानों पर यात्रियों की जांच की जा रही है। जांच के लिए नियमित बूथों की संख्या भी 58 कर दी गई है। अधिकारियों का कहना है कि जांच का दायरा बढ़ेगा तो संक्रमण की पहचान सही समय पर हो जाएगी। इससे मरीजों के इलाज में आसानी होगी। सीएमओ डॉ. आशुतोष कुमार दूबे ने कहा कि जिला कोरोना मुक्त हो चुका है, लेकिन इसके बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन जरूरी है। अगर लापरवाही की गई तो नया वैरिएंट तेजी से फैल सकता है। लिहाजा, एंटीजन और आरटीपीसीआर जांच के लिए करीब चार हजार नमूने लिए जा रहे हैं।
बीआरडी में बढ़ती जा रही है संदिग्ध मरीजों की संख्या
बीआरडी मेडिकल कॉलेज के 300 बेड के कोविड वार्ड में संदिग्ध मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। मौजूदा समय में 16 मरीज वार्ड में भर्ती हैं। इनमें से दो मरीज कोरोना पॉजिटिव शामिल हैं। इसके अलावा 14 मरीज ऐसे हैं, जिनमें कोरोना के लक्षण तो हैं, लेकिन उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। कॉलेज प्रशासन इनका भी इलाज कोविड-19 की तर्ज पर कर रहा है। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि 300 बेड के कोविड वार्ड में केवल दो कोरोना मरीज भर्ती हैं। इनका इलाज जारी है। मेडिसिन वार्ड में संदिग्ध मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे मरीजों की एंटीजन से लेकर आरटीपीसीआर जांच कराई जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बिहार में बड़ा हादसा: गंडक नदी में डूबा ट्रैक्टर, हादसे में 2 लोगों की मौत, 20 लापताभारत ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बैन 28 फरवरी तक बढ़ायासानिया मिर्जा ने किया संन्यास का ऐलान, बोलीं-'मेरा शरीर खराब हो रहा है'UP Assembly Elections 2022 : अखिलेश यादव ने कहा सपा की सरकार बनी तो महिलाओं को देंगे 1500 रुपये प्रति महीने पेंशनMaharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परकोई बना दिल का राजा तो किसी को जनता ने बताया नकारा, मंत्रियों पर हुए सर्वे में खुलासाOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.