यूपी के सपा सांसद सहित छह सौ निषाद कार्यकर्ताओं पर केस

Nishad party and Samajwadi Party protest

गोरखपुर के सपा सांसद प्रवीण निषाद सहित छह सौ लोगों पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। गुरुवार को मछुआ समाज के आरक्षण की मांग को लेकर सांसद के प्रदर्शन और लाठीचार्ज के बाद पुलिस ने सांसद और उनके समर्थकों पर पुलिस से उलझने का आरोप लगाकर गोरखनाथ इंस्पेक्टर की तहरीर पर कार्रवाई की है। पुलिस ने सांसद समेत आठ नामजद और करीब छह सौ अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया है।
गुरुवार को आरक्षण की मांग को लेकर निषाद पार्टी का हल्लाबोल प्रदर्शन था। इस प्रदर्शन के पहले सांसद की अगुवाई में निषाद पार्टी ने भगवानपुर में जनसभा की थी। इसके बाद ये लोग अपनी मांगों संबंधित ज्ञापन देने के लिए गोरखनाथ मंदिर स्थित सीएम के कैंप कार्यालय की ओर कूच किए। गोरखनाथ क्षेत्र में स्थित इंडस्ट्रियल एरिया के पास स्थित राणीसती मंदिर के पास पुलिस ने कार्यकर्ताओं के जत्थे को रोकना चाहा लेकिन वे लोग नहीं माने। पुलिस ने लाठीचार्ज कर कार्यकर्ताओं को तितरबितर किया और सांसद प्रवीण निषाद को हिरासत में ले लिया। इस लाठीचार्ज में सांसद प्रवीण को चोटें आई और उनका हाथ फ्रैक्चर हो गया। हिरासत में लेने के बाद सांसद और उनके समर्थकों को पुलिस लाइन में रखा गया है जिन्हें करीब तीन घंटे बाद छोड़ दिया गया।
उधर, गोरखनाथ इंस्पेक्टर ने निषाद पार्टी और सांसद के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। पुलिस ने सांसद प्रवीण निषाद, संजय निषाद, श्रवण निषाद, राकेश निषाद, रीतू खरे, बिंदा सैनी, कमलेश, मल्खा सहित छह सौ अज्ञात पर 147, 148, 149, 504, 506, 427, 336, 188 और 7 क्रिमिनल एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। इसके अलावा चिलुआताल थाने में पुलिस ने निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं, सांसद समेत कई लोगों के खिलाफ धारा 144 के उल्लंघन में केस दर्ज कर लिया है।

धीरेन्द्र विक्रमादित्य
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned