वॉट्सऐप पर अपना फोटो भेजकर फंसाती थी युवकों को और घर बुलाकर कर देती थी...

वॉट्सऐप पर अपना फोटो भेजकर फंसाती थी युवकों को और घर बुलाकर कर देती थी...

  • पुलिस ने मौके से चार आरोपियों को गिरफ्तार किया हैं

 

ग्रेटर नोएडा. दादरी कोतवाली पुलिस ने एक महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने 2,76,550 रूपये, पुलिस की वर्दी, कैप, स्टार व एक सब इंस्पेक्टर की आईडी, एक सेंट्रो कार व अन्य सामान बरामद किया है। मजेदार बात यह है कि इस गैंग में एक पीएसी का जवान भी शामिल हैं।

जानकारी के अनुसार, पुलिस को लंबे समय से शिकायत मिल रही थी कि एक महिला गैंग बनाकर युवकों को अपना शिकार बना रही है। पुलिस काफी दिनों से उसकी तलाश में जुटी थी। सूचना मिली थी कि महिला अपने साथियों के साथ मिलकर दादरी आ रही है। यहां पुलिस ने उसे धर दबोचा।

एसएसपी वैभव कृष्णा ने बताया कि सीमा सिरोही नौकरी दिलाने के बहाने से अरूण के साथ लोगों से मिलती थी। उसके बाद फोन से संपर्क करती थी। वॉट्सऐप पर चैट कर व अपने अलग-अलग तरीके से फोटो भेज कर अपने घर बुलाती थी। उसके बाद उन लोगों को अपने जाल में फसा कर अरूण के द्वारा उनकी विडियो बना लेती थी। उसके बाद में लोगों को ब्लैक करना शुरू कर देते थी। वहीं उसके साथी डराता धमकाते और जेल भेजने के नाम पर रुपये ऐठते थे। एसएसपी ने बताया कि इनका एक अन्य साथी पुष्पेन्द्र पुलिस व पीडित लोगों के बीच मध्यस्थता कराकर रुपयों का लेन-देन कराता था। इस मामले में पीडितों की तरफ से दादरी कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

ये पकड़े गए आरोपी

1. सीमा सिरोही पत्नी राजीव निवासी सैदपुरा थाना बीबीनगर जिला बुलंदशहर।
2. अरूण कुमार पुत्र हरगोविंद निवासी खदाना थाना आहार जिला बुलन्दशहर ।
3. विजय सिंह चीमा (हैड कास्टेबल 49 वाहिनी पीएसी डी कंपनी, गौतमबुद्धनगर) पुत्र रामस्वरूप निवासी चैकरिया कमालपुर थाना डिडोली जोया जिला अमरोहा।
4. पुष्पेन्द्र पुत्र जगत नारायण निवासी सेक्टर-36 एच्छर थाना कासना जिला गौतमबुद्धनगर।

 

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned