स्‍कूल में बच्‍चों को बांटी जाने किताबों को जेवर एबीएसए ऑफिस के कर्मियों ने जलाया

sharad asthana

Publish: Sep, 16 2017 02:37:21 (IST)

Greater Noida, Uttar Pradesh, India
स्‍कूल में बच्‍चों को बांटी जाने किताबों को जेवर एबीएसए ऑफिस के कर्मियों ने जलाया

एबीएसए ने बताया इन्‍हें रद्दी, डीएम ने दिए मामले की जांच के निर्देश

ग्रेटर नोएडा। सरकारी स्कूल में बांटी जाने वाली किताबों को जलाने का मामला सामने आया है। एबीएसए आॅफिस के पीछे किताबों को जलाया गया है। लोगों ने मामले की शिकायत डीएम से की है। आरोप है कि जेवर के सरकारी स्कूलों के बच्चों को दी जाने वाली किताबों को जलाया गया है। वहीं, एबीएसए ने इन्हें रद्दी बताया है। डीएम ने मामले की जांच के निर्देश विभागीय अफसरों को दिए हैं।

स्‍पेशल रिपोर्ट: 1423 स्कूली बच्चों की सुरक्षा के लिए है केवल एक सिपाही

बच्‍चों को फ्री में दी जाती हैं किताबें

जानकारी के अनुसार, जेवर में एबीएसए आॅफिस है। सरकार की तरफ से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को फ्री में किताबें दी जाती हैं। बताया गया है कि सरकार की तरफ से स्कूलों में बच्चों को किताबें बांटने के लिए भेज दी गईं, लेकिन ये किताबें बांटी नहीं गईं। यहां एबीएसए आॅफिस में तैनात कर्मचारियों ने स्कूलों में किताबों को बांटने की जगह उन्हें जला दिया। मामले की शिकायत डीएम से की गई है। जेवर के रहने वाले ज्ञानचंद ने बताया कि किताबों को जलाया गया है। मामले की शिकायत डीएम से की है, उन्हें जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया है।

पेंसिल बदलने गए मासूम को दुकानदार ने मारा थप्‍पड़, सुनाई देना हुआ बंद

सर्वशिक्षा अभियान को लगाया जा रहा है पलीता

जेवर तहसील में बने एबीएसए ऑफिस के पीछे सरकारी स्कूल मे बांटी जाने वाली किताबों को जलाया गया है। एक तरफ जहां सरकार शिक्षा पर करोड़ोंं रुपये खर्च कर रही है, वहीं शिक्षा विभाग के अफसर सर्वशिक्षा अभियान को पलीता लगा रहे हैं। सर्वशिक्षा अभियान के तहत बच्चों को मुफ्त में किताबें दी जाती हैं। लोगों का आरोप है कि किताबों को स्कूलों में बच्चों को बांटने की जगह रद्दी बनाया जा रहा है। उसके बाद में किताबों को जला दिया जाता है। जेवर के एबीएसए सुनील मुगदल ने बताया कि किताबों को जलाया नहीं गया है। आॅफिस में साफ-सफाई की जा रही है। साफ-सफाई के दौरन रद्दी को जलाया गया है। डीएम बीएन सिंह ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है। दोषी पाए जाने पर कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned