पत्रिका इंपैक्ट: इस शहर के पार्को की बदलेगी तस्वीर

पार्को की होगी साफ-सफाई और बच्चों के लिए खेलने की सुविधा होगी डिवलेप

By: virendra sharma

Updated: 10 Feb 2018, 03:06 PM IST

ग्रेटर नोएडा. पार्को की खस्ता हालत को ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के अफसरों ने सुधारना शुरू कर दिया है। पत्रिका में खबर प्रकाशित होने के बाद अथॉरिटी अफसर हरकत में आए और उन्होंने पार्को की हालत सुधारने के निर्देश दिए। शहर के पार्को की बाउंड्रीवॉल और बच्चों के खेलने की सुविधा डिवलेप की जा रही है। वहीं साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। अभी तक पार्को की साफ-सफाई को लेकर अथॉरिटी की तरफ से कोई ठोस कदम नही उठाए जा रहे थे।

यह भी पढ़ें: शहर के पार्कों की हालत हो चुकी है खस्ता, खेलने के लिए भी नहीं है कोई सुविधा

20 जनवरी को पत्रिका ने शहर के पार्कों की हालत हो चुकी है खस्ता, खेलने के लिए भी नहीं है कोई सुविधा की खबर प्रकाशित की थी। खबर पढ़ने के बाद में अथॉरिटी अफसर हरकत में आ गए। अथॉरिटी अफसरों ने जल्द से जल्द पार्को की टूटी हुई बाउंड्र्रीवॉल और बच्चों के खेलने के लिए सभी सूविधा डिवलेप करने के निर्देश जारी कर दिए है। अथॉरिटी अफसरों से निर्देश मिलने के बाद में शहर के पार्को में तेजी से कार्य किए जा रहे है। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के हॉर्टीकल्चर विभाग के सीनियर मैनेजर आनंद मोहन ने बताया कि पार्को में सभी सुविधा डिवलेप की जा रही है। वहीं बच्चों के खेलने की सुविधा पर भी पूरा फोकस किया जा रहा है। साथ ही जिम्मेदार कर्मचारियों को निरंतर देखरेख करने के भी निर्देश सीनियर मैनेजर आनंद मोहन की तरफ से दिए गए है।

यह भी पढ़ें: अवैध संबंध और अश्लील सीडी बनी अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर जितेंद्र मान की हत्या वजह

पार्कों की हालत थी राम भरोसे, नही सुन रहे थे अधिकारी

शहर के पार्को की देखरेख, हरियाली विकसित करने व अन्य सुविधाओं के लिए अथॉरिटी जिम्मेदार है। इनके रखरखाव पर अथॉरिटी की तरफ से करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं, लेकिन पार्कों के देखरेख में अथॉरिटी की तरफ से लापरवाही बरती जा रही थी। इस मुद्दे को कड़ाई से पत्रिका ने उठाया था। दरअसल में शहर के बीटा-1, 2, अल्फा-1, 2, गामा-1,2, डेल्टा-1,2,3 समेत अन्य सेक्टरों के पार्को की हालत खस्ता हो चुकी है। कहीं ग्रिल टूटी हुई है तो कहीं पार्को में गंदगी फैली हुई है। इसके अलावा पार्को में बच्चों के खेलने के लिए कोई सुविधा नहीं है। हॉर्टीकल्चर विभाग के सीनियर मैनेजर आनंद मोहन ने बताया कि जल्द ही बच्चोें के खेलने की सुविधा डिवलेप कर दी जाएगी। पार्क के रखरखाव समेत सभी सुविधाओं के बारे में विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

virendra sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned