Ground Report: औरैया हादसे के बाद भी नहीं जाग रही यूपी पुलिस, पुलिस के सामने ही मजदूरों को अवैध तरीके में भरा जा रहा टेंपो में

Highlights

. औरैया में सड़क हादसे में हुई थी 25 मजदूरों की मौत
. हादसे के बाद योगी सरकार ने अपनाया सख्त रूख
. मजदूरों के पलायन को लेकर योगी सरकार ने किए है दिशा—निर्देश जारी

 

 

 

ग्रेटर नोएडा। औरैया में हुए सड़क हादसे में 25 मजदूरों की मौत हो गई थी। हादसे के बाद योगी सरकार ने सख्त रूख अपनाते हुए यूपी के सभी जनपद के वरिष्ठ अधिकारियों को मजदूरों के पलायन को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए। योगी सरकार ने प्रवासी मजदूरों को पैदल, अवैध या असुरक्षित गाड़ियों से यात्रा न करने के निर्देश जारी किए थे। साथ ही अगर कोई वाहन मजदूरों को ले जाते हुए मिलता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। लेकिन एक फोटो लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

यह फोटो बादलपुर कोतवाली एरिया के जीटी रोड स्थित एनटीपीसी रेलवे लाइन के पास की है। यहां पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में एक गाड़ी में मजदूर सवार हो रहे है। लेकिन पुलिसकर्मियों को उस तरफ कोई ध्यान नहीं है। बताया जा रहा है कि खुद पुलिसकर्मियों ने गाड़ी रुकवाई और उसमें मजदूरों को भेजा है। सवाल यह है कि सख्त आदेश के बाद भी यूपी पुलिस लापरवाह कैसे बनी हुई है। आरोप है कि पुलिसकर्मी जगह—जगह मजदूरों को क्वारंटाइन सेंटर भेजने की जगह उन्हें निजी वाहनों से भेज रहे है। सूत्रों ने बताया कि नोएडा के हरौला से भी गलत तरीके से रोजाना गाड़ियों में भरकर मजदूरों को भेजा जा रहा है।

औरैया हादसे में आया था गाजियाबाद कनेक्शन सामने

औरैया में हुए सड़क हादसे के योगी सरकार ने जांच के निर्देश दिए थे। जांच की आग गाजियाबाद तक आ पहुंची। योगी सरकार ने इंदिरापुरम थाने के SHO को सस्पेंड किया। साथ ही CO इंदिरापुरम और साहिबाबाद कोतवाली प्रभारी से भी जवाब मांगा गया है। दरअसल, जो ट्रक हादसे का शिकार हुआ था, वह दिल्ली से चला था। गाजियाबाद के इदिरापुरम इलाके से ट्रक में 16 लोग सवार हुए थे। ये इंदिरापुरम के मक्कनपुर इलाके में रहते थे। लॉकडाउन के बाद अपने घर वापस लौट रहे थे। शुरुआती जांच में इंदिरापुरम एसओ की लापरवाही सामने आई थी।

हादसे के बाद योगी सरकार ने दिए ये निर्देश

औरैया हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मजदूरों के पलायन पर अधिकारियों को निर्देश जारी कर कहा था कि किसी भी प्रवासी नागरिकों को पैदल, अवैध या असुरक्षित गाड़ियों से यात्रा न करने दें। इस संबंध में यूपी के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसी को पैदल सफर नहीं करने दिया जाए। साथ ही असुरक्षित वाहनों में भी ये किसी भी कीमत पर यात्रा न करने दिया जाए। अगर कोई वाहन चालक सवारी भरकर मजदूरों को ले जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए और मजदूरों को सम्मान सहित क्वारंटाइन सेंटर भेजा और उनके लिए खाने—पीने की व्यवस्था की जाए। बाद में उन्हें बस से घर भेजा जाएगा।

औरैया में हुआ था हादसा

यूपी के औरैया में मजदूरों से भरा ट्रक हादसे का शिकार हो गया। हादसे में 25 मजदूरों की जान चली गई थी। घटना में बच्चों समेत 16 मजदूर घायल हो गए थे।

virendra sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned