5 माह बाद फोन में बजी थी ऐसी रिंगटोन कि खुल गया हत्या का राज

5 माह बाद फोन में बजी थी ऐसी रिंगटोन कि खुल गया हत्या का राज

Virendra Kumar Sharma | Publish: Sep, 11 2018 10:49:12 AM (IST) Greater Noida, Uttar Pradesh, India

आरोपियों ने सूटकेस में शव को भरकर इंदिरापुरम एरिया में फेंक दिया था

ग्रेटर नोएडा. बिसरख कोतवाली एरिया में अप्रैल माह में हुई गर्भवती महिला हत्या के मामले का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है। हालाकि पहले ऐसा लग रहा था यह दहेज हत्या का मामला है। महिला के मायकेपक्ष वालों ने दामाद और उसके परिवार पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। लेकिन पुलिस की तफतीश पति को निर्दोष बता रही थी। यह केस पुलिस के लिए उलझन बन गया था। दरअसल में पिछले 5 माह में खुलासा न होने पर पुलिस के लिए यह केस ब्लाइंड मर्डर बन गया था। पुलिस दहेज हत्या की एफआईआर दर्ज कर दूसरे एंगल से भी मामले की जांच में जुटी थी। दरअसल में मृतका माला और शिवम ने प्रेम विवाह किया था। यह भी एक वजह मानी जा रही थी।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: मायावती की इस सीट से सपा ने किया प्रत्याशी तय!

तभी पुलिस को ऐसा सुराग मिला कि पुलिस तफ्तीश दिशा ही बादल गई। फोन को सर्विलान्स पर लगा कर जांच शुरू कि तो नई–नई परते खुलने लगी और जो बाते सामने आई वो रोंगटे खडा देने वाली थी। पुलिस के हाथ हत्यारों तक जा पहुंचे। पुलिस ने हत्या के आरोपी पति पत्नी को धर दबोचा। यह मृतका के पड़ोसी थे। पुलिस ने हत्या के आरोपी पति पत्नी की गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। मालूम हो कि हैबतपुर गांव में रहने वाली माला (23) का शव 10 अप्रैल को एनएच-24 के किनारे इंदिरापुरम क्षेत्र में कनावनी पुलिया के पास नाले में बैग में मिला था। महिला के परिजनों की शिकायत पर बिसरख पुलिस ने दहेज हत्या का मामला दर्ज कर शिवम से पूछताछ की थी लेकिन पुलिस को कोई सुराग नहीं मिला था। पांच माह बाद पुलिस ने पूरे घटनाक्रम खुलासा कर दिया है।

पुलिस ने इस मामले में ऋतु और उसके पति सौरभ को गिरफ्तार किया है। उनहें इस बात का गुमान भी नहीं था कि एक दिन पुलिस के हत्थे चढ़ जाएंगे। इस वारदात कि शुरुआत तब शुरू हुई जब माला ने आँख मूद कर अपने पड़ोसी ऋतु और उसके पति सौरभ पर विश्वास कर लिया और अपने जेवरात और बांडे्रड कपड़ो का प्रदर्शन किया। जिसे देखकर उनके मन में लालच आ गया। उन्होंने ने माला को चाय पीने के लिए बुलाया और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद माला के घर से जेवर आदि ले लिया। हत्या के बाद माला के शव को बैग में भरकर कनावनी के नाले में फेंक दिया।

एसएसपी अजयपाल शर्मा ने बताया कि जिस दिन माला गायब हुई थी, उसी दिन से उसके घर से एक मोबाइल भी गायब हुआ था। पुलिस ने उसे सर्विलांस पर लगाया था। घटना के 5 माह के बाद वह मोबाइल एक्टीवेट हो गया। पुलिस ने लोकेशन ट्रेस किया तो वह माला के घर के ऊपर किराएदार ऋतु के पिता के पास निकला। पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनकी बेटी ने मोबाइल दिया है। पुलिस ने जब ऋतु और उसके पति सौरभ को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पूरा मामला साफ हो गया। माला के परिजनो को इस बात से खुशी है पुलिस ने इस मामले कि जांच पूरे प्रफोशनल ढंग से कि जिससे आरोपी पकड़े गए लेकिन इस बात का अफसोस है। माला के पति शिवम पर दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। पति शिवम इस हत्या में शामिल नहीं था।

यह भी पढ़ें: पूर्व केंद्रीय मंत्री व बीजेपी सांसद आम आदमी पार्टी से लड़ेंगे चुनाव, अरविंद केजरीवाल ने दिए संकेत

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned