बड़ी खबर: भाजपा चेयरमैन पर गिरी गाज, इस कारण होगी जमानत जब्त

भाजपा चेयरमैन समेत दूसरे पार्टी के प्रत्याशियों ने भी अब तक चुनावी खर्च का ब्यौरा नहीं दिया है।

By: Kaushlendra Pathak

Updated: 09 Dec 2017, 05:12 PM IST

ग्रेटर नोएडा। यूपी नगर निकाय चुनाव में खड़े हुए प्रत्याशियों ने अभी तक अपने खर्च का ब्यौरा नहीं दिया है। लिहाजा, प्रशासन ने ठोस कदम उठाते हुए निर्देश जारी किए हैं कि सभी प्रत्याशी अपने-अपने चुनाव खर्च का ब्यौरा दें। अनयथा उनकी जमानत जब्त कर ली जाएगी। प्रशासन ने नोटिस जारी करते हुए कहा चुनावी खर्च देने में सभी प्रत्याशी पीछे हैं। जिन लोगों ने अपने ब्यौरा नहीं दिया है, उनमें दादरी नगरपालिका परिषद की भाजपा चेयरमैन गीता पंडित और जेवर के विधायक ठाकूर धीरेंद्र सिंह के भाई रवूपूरा से बने नगर पंचायत अघ्यक्ष ठाकूर वीरेंद्र सिंह भी शामिल हैं। इसके अलावा बीएसपी, सपा, कांग्रेस के कई दिग्गजों ने भी अपना चुनावी खर्च का ब्यौरा अब तक नहीं दिया है।


डीएम बीएन सिंह ने बताया कि अभी तक चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों ने चुनाव में हुए खर्च का अपना ब्यौरा नहीं दिया है। उनका कहना है कि खर्च का ब्यौरा देने के बाद ही जमानत राशि दी जाएगी। जिन प्रत्याशियों को निर्वाचन आायोग के अनुसार वोट नहीं मिली है, उनकी जब्त कर ली गई है। उन्होंने बताया कि अभी तक जीते हुए प्रत्याशियों ने भी चुनाव में हुए खर्च का ब्यौरा नहीं दिया है, लिहाजा यह कदम उठाना पड़ रहा है। डीएम बीएन सिंह ने बताया कि तीन माह में चुनाव खर्च का ब्यौरा नहीं देने पर कार्रवाई की जाएगी। यहां तक की उन्होंने कहा कि 26 नवंबर तक आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। अब देखना यह है कि इस आदेश के बाद नेता चुनावी खर्च का ब्यौरा देते हैं या फिर उनकी जमानत जब्त होती है।

 

गौरतलब है कि गौतमबुद्ध नगर में 26 नवंबर को दूसरे चरण में चुनाव हुए थे। दादरी नगरपालिका परिषद और नगर पंचायत रबूपुरा से बीजेपी को जीत हासिल हुई थी। 4 नगर पंचायत में बीजेपी को बूरी हार मिली मिली थी। जेवर से जीती सपा से वीरवती ने बीएसपी की सत्यवती को हराया था। दनकौर से बीएसपी के अजय मास्टर ने जीत दर्ज की थी और बिलासपुर से निर्दलीय साबिर कुरैशी जीते थे। वहीं जहांगीरपुर से जेपी शर्मा ने निर्देलीय जीत हासिल की थी।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned