सपा नेता के भाई की हत्या का खुलासा, अखिलेश यादव ने जांच के लिए गठित किया था प्रतिनिधिमंडल

सपा नेता के भाई दिनेश भाटी हत्या के मास्टर माइंड समेत तीन आरोपी गिरफ्तार, शॉर्प शूटर फरार, बाइक बोट कंपनी ठेका दिलाने के नाम पर हुआ पैसों का लेनदेन बना मौत की वजह।

By: lokesh verma

Published: 11 Jun 2021, 10:04 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
ग्रेटर नोएडा. दादरी थाना क्षेत्र के लुहारली गांव के रहने वाले सपा नेता महेश भाटी के भाई दिनेश भाटी हत्या का खुलासा कर पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि इस मामले 25 हज़ार का इनामी शार्प शूटर अभी फरार है, जिसकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस का कहना कि बाइक बोट कंपनी में ठेका दिलाने के लिए 50 हजार रुपए के लेनदेन को लेकर हुए विवाद में हत्या की साजिश रची गई थी।

यह भी पढ़ें- UP Crime गाजियाबाद में किसान की गोली मारकर हत्या

डीसीपी राजेश कुमार ने बताया कि पुलिस पूछताछ में मुख्य आरोपी सोनू ने बताया करीब तीन साल पहले दिनेश ने उससे यह कहकर 50 हजार रुपए लिए थे कि उसे वह बाइक बोट कंपनी में हॉर्टिकल्चर का ठेका दिलवा देगा। सोनू ने बताया कि पैसा लेने के बाद दिनेश ने न तो से काम दिलवाया और न ही उसके पैसे वापस करे। सोनू ने कई बार दिनेश से अपने पैसे वापस मांगे, लेकिन उसने पैसे नहीं दिए। बल्कि सोनू के साथ गाली-गलौज व बदतमीजी की और तमंचा दिखाकर जान से मारने के लिए धमकी दी। उसी दिन सोनू ने दिनेश की हत्या करने की साजिश रची।

डीसीपी ने बताया कि हत्या की साजिश एक सोची समझी रणनीति के तहत रची गई। सपा नेता महेश भाटी की गांव में पुनीत के परिवार के साथ पुरानी रंजिश चल रही थी, जिसमे पूर्व में सपा नेता के बेटे की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसका का फायदा उठाते हुए शक की सुई पुनीत के परिवार की ओर करने का पूरा प्रयास किया गया। लेकिन, पुलिस ने मामले की गहनता से जांच पड़ताल की और मुख्य आरोपियों पर शिकंजा कसा।

पुलिस ने सोनू भाटी, दीपक और अमित को गिरफ्तार कर लिया है, जिन्होंने शार्प शूटर पवन के साथ मिलकर 9 मई को दादरी के लुहारली गांव में सपा नेता महेश भाटी के भाई दिनेश भाटी की गोलियां बरसा कर हत्या कर दी थी। 25 हज़ार का इनामी शार्प शूटर पवन अभी फरार है, जिसकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। बता दें कि इस हत्याकांड में सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने 9 सपा नेताओं का प्रतिनिधिमंडल गठित किया था।

यह भी पढ़ें- भैंस चराने गया 13 साल का मासूम हिंडन में डूबा, सुराग नहीं

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned