अबू धाबी में प्रवेश के नियमों में मिली ढील, जानिए किस रणनीति ने एक साल में वायरस से लड़ने में मदद की

इससे पहले यूएई की राजधानी में अमीरात के अन्य हिस्सों से प्रवेश के लिए पीसीआर टेस्ट का निगेटिव होना जरूरी था।

By: Mohit Saxena

Published: 19 Sep 2021, 09:14 PM IST

नई दिल्ली। अबू धाबी ने शनिवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के कई हिस्सों से आने वाले लोगों के लिए कोरोना टेस्ट कराने की अनिवार्यता खत्म कर दिया है। अबू धाबी ने शनिवार को यह ऐलान किया। इस दौरान कहा गया कि यूएई के छह अन्य अमीरात से आने वाले लोग रविवार से बिना जांच के राजधानी में प्रवेश कर सकते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक यूएई की राजधानी में अमीरात के अन्य हिस्सों से प्रवेश के लिए पीसीआर टेस्ट का निगेटिव होना जरूरी था। इस माह की शुरुआत में अबू धाबी ने विदेशों से आने वाले ऐसे लोगों को को क्वारंटीन करने की जरूरत को खत्म कर दिया था, जिनका कोविड-19 टीकाकरण हो चुका था।

ये भी पढ़ें: Charanjit Singh Channi: चरणजीत सिंह चन्नी बने पंजाब के मुख्यमंत्री, कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से हटाने की उठाई थी मांग

गौरतलब है कि अबू धाबी की अर्थव्यवस्था काफी हद तक तेल पर टिकी है। अबू धाबी ने कोरोना महामारी की वजह से कई महीनों तक की यात्रा पर बैन लगा दिया था। वहीं उसके पड़ोसी दुबई ने तेजी से पर्यटकों को अपने यहां आने की इजाजत दे दी थी। हालांकि अभी भी अबू धाबी ने कुछ इलाकों में प्रवेश के लिए वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने की जरूरत को अनिवार्य किया हुआ है।

अबू धाबी ने यह फैसला पॉजिटिविटी रेट के घटकर 0.2 फीसदी पर जाने के बाद किया है। इसका अर्थ है कि वहां अब सौ लोगों के कोरोना टेस्ट कराने पर सिर्फ 0.2 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। अबू धाबी के यात्रा बैन का सबसे ज्यादा असर काम के लिए रोजना अबूधाबी से दुबई आने-जाने वाले लोगों पर हुआ था। अबू धाबी और दुबई में भारतीय समुदाय बड़ी संख्या में रहता है।

इसके अलावा अबू धाबी ने होम क्वारंटीन में रहने वाले लोगों के लिए कलाई में बांधने वाले स्मार्टबैंड की आवश्यकता को भी खत्म कर दिया है। स्मार्टबैंड से अबू धाबी का प्रशासन यह नजर रखने की कोशिश करेगा कि कोई शख्स क्वारंटीन नियमों का पालन कर रहा है या नहीं।

अबू धाबी कैसे बना सबसे सुरक्षित शहर

अबू धाबी में अधिकारियों ने दुनिया के सबसे सुरक्षित शहर के रूप में उभरने के लिए बड़े पैमाने पर परीक्षण और टीकाकरण की एक कठोर व्यवस्था लागू की। लंदन स्थित एनालिटिक्स कंसोर्टियम डीप नॉलेज ग्रुप (डीकेजी) ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए यूएई कैपिटल को प्रमुख शहरों की सूची में सबसे ऊपर रखा है।

अधिकारियों ने घर-घर जाकर कोविड टेस्टिंग से लेकर घनी आबादी वाले इलाकों में संक्रमण फैलने से रोकने के लिए जन अभियान चलाने तक सब कुछ किया है। अबू धाबी दुनिया के उन कुछ स्थानों में से एक है जो कोविड -19 की दूसरी लहर से प्रभावित नहीं हुए हैं।

एलएलएच अस्पताल मुसाफ्फा के विशेषज्ञ पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ संजीव नायर ने कहा कि अबू धाबी में मृत्यु दर और नए कोविड-19 मामले बहुत कम हैं और यह सब नियमित जांच के माध्यम से निवासियों की उचित निगरानी के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है जो प्रसार को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned