ईरान: आर्मी परेड में हथियारों की जगह जवानों के हाथों में दिखा मास्क, कोरोना से लड़ने का दिया संदेश

Highlights

  • पारंपरिक परेड में हथियारों का प्रदर्शन किया जाता है।
  • मिसाइल की जगह यहां पर डिसइन्फेंक्शन वाहन दिखा।
  • ईरान में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या पांच हजार तक पहुंच चुकी है।

By: Mohit Saxena

Updated: 18 Apr 2020, 12:50 PM IST

तेहरान। ईरान में कोरोना संकट अपने चरम पर हैं। यहां पर मरने वालों का आंकड़ा पांच हजार के पार कर गया है। शुक्रवार को यहां पर आर्मी डे का आयोजन किया गया था। मगर इस दौरान परेड में मिसाइल और हथियारों के बजाए मेडिकल उपकरणों का प्रदर्शन किया गया। राष्ट्रपति ने कहा कि इस महामारी में हालात सामान्य नहीं है, इसलिए सामान्य तरह से परेड का आयोजन नहीं किया जा सकता है।

parade

गौरतलब है कि पारंपरिक परेड में हथियारों का प्रदर्शन किया जाता है। इसमें मिसाइल सबमरीन, हथियारबंद वाहनों का इस्तेमाल किया जाता है। मगर यह परेड पारंपरिक आर्मी परेड से बिल्कुल अलग थी। मिसाइल की जगह यहां पर डिसइन्फेंक्शन वाहन, मेडिकल इक्विपमेंट परेड देखने को मिला।

parade

राष्ट्रपति हसन रोहानी ने जवानों के नाम जारी संदेश में कहा कि स्वास्थ्य और सोशल डिस्टेंसिंग के कारण जवानों की परेड नहीं निकाली जा सकती। उन्होंने स्वास्थ्य कर्मियों की सराहना करते हुए कहा कि डॉक्टर और नर्स युद्ध के मैदान में सबसे आगे हैं। इस दौरान 11 हजार मेडिकल स्टाफ का आभार जताया गया।

यह आम परेड नहीं थी, ऐसे में जवानों के हाथों में राइफल नहीं थी। जवानों को लोगोें को कोरोना वायरस से बचने के लिए संदेश दिए। उनका शरीर पूरी तरह से मास्क और पोशाक से ढका हुआ था। शुक्रवार को डिफेंडर्स ऑफ द होमलैंड, हेल्पर्स ऑफ हेल्थ आर्मी के नाम की परेड निकाली गई ।

coronavirus What is Coronavirus? Coronavirus in China
Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned