UAE को ईरान ने दी धमकी, कहा- इजराइल से समझौता कर बड़ी गलती की

Highlights

  • रिवोल्यूशरी गार्ड का कहना है कि इजराइल (Isreal) के साथ समझौता पश्चिम एशिया में अमरीक प्रभाव को बढ़ाना है।
  • ईरानी गार्ड ने इस समझौते को "शर्मनाक" बताया है, इस समझौते पर अमरीका ने हस्ताक्षर किए हैं।

By: Mohit Saxena

Updated: 16 Aug 2020, 02:03 PM IST

तेहरान। संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) और इजराइल (Israel) के बीच हुए राजनयिक संबंधों (Diplomatic Relationship) को लेकर ईरान ने यूएई को कड़ी चेतावनी दे डाली है। ईरान के शक्तिशाली रिवोल्यूशनरी गार्ड ने शनिवार ने कहा कि यह कदम यूएई के लिए घातक साबित होंगे।

दरअसल इजराइल के साथ राजनयिक संबंध स्थापित करने वाला यूएई पहला खाड़ी अरब देश बन चुका है। ईरानी गार्ड ने इस समझौते को "शर्मनाक" बताया है। इसे एक "नुकसानदेह कदम" करार दिया है। इस समझौते पर अमरीका ने हस्ताक्षर किए हैं।

रिवोल्यूशरी गार्ड का कहना है कि इजराइल के साथ समझौता पश्चिम एशिया में अमरीक प्रभाव को बढ़ाना है। यह अमीराती सरकार के लिए "खतरनाक भविष्य" लेकर आएगा। ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी ने इस कदम को लेकर यूएई की कड़ी निंदा की है।

शनिवार को मीडिया में एक भाषण के दौरान उन्होंने चेतावनी दी है कि संयुक्त अरब अमीरात ने इजराइल के साथ संबंधों को सामान्य बनाने के लिए समझौता कर बड़ी गलती करी है। गौरतलब है कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरुवार को घोषणा कर संयुक्त अरब अमीरात और इजराइल पूर्ण राजनयिक संबंध स्थापित करने पर सहमति जताई है।

ईरान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस समझौते के साथ यूएई ने फलस्तीन लोगों और सभी मुस्लिमों की पीठ में खंजर घोंप दिया है। वहीं तुर्की के विदेश मंत्रालय ने बयान में कहा कि क्षेत्र के लोग इसे कभी नहीं भूलेंगे। वे यूएई के इस बर्ताव को भी कभी माफ नहीं करेंगे। इससे पहले हमास ने भी इस समझौते पर तीखी आलोचना व्यक्त की थी। उसने भी समझौते को लोगों की पीठ में छुरा घोंपने जैसा करार दिया है।

Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned