जारी है इजराइल-सीरिया के बीच तनाव, हफ्तेभर में हुए दूसरे हमले में तीन सीरियाई सैनिकों की मौत

  • इजराइल की सेना का सीरिया की दक्षिण क्षेत्र स्थित सैन्य ठिकानों पर हमला
  • इजराइल के कब्जे वाले गोलान हाइट्स पर दागे गए रॉकेट्स के जवाब में की गई कार्रवाई
  • सीरिया का दावा-हमले में उनके तीन सैनिकों की मौत, सात घायल

By: Shweta Singh

Updated: 03 Jun 2019, 11:30 AM IST

नई दिल्ली। इजराइल की सेना ने सीरिया के दक्षिणी क्षेत्र स्थित सैन्य ठिकानों पर रविवार सुबह हमला बोल दिया। एक हफ्ते में यह दूसरी बड़ी घटना है। सीरिया की सरकारी मीडिया संस्था के हवाले से यह जानकारी मिल रही है। रिपोर्ट में बताया जा रहा है कि हमले में तीन सीरियाई सैनिक मारे गए और सात अन्य इसमें घायल हुए हैं। एक सैन्य अधिकारी के हवाले से बताया जा रहा है कि हमला इजराइल के कब्जे वाले गोलान हाइट्स पर रॉकेट्स दागे गए थे।

रॉकेट दागने वाले की नहीं हुई पुष्टि

हमला दक्षिण क्वेनीत्रा में सैन्य ठिकानों पर किया गया था। सीरियाई एजेंसी के मुताबिक हमले में जानमाल को काफी नुकसान हुआ है। वहीं, इजराइली सेना के एक प्रवक्ता ने भी ट्विटर पर इस बात की पुष्टि की है। प्रवक्ता के मुताबिक सीरिया में सेना के कई ठिकानों को निशाना बनाया गया। इन ठिकानों में दो तोपखाने, कई खुफिया और निरीक्षण चौकियां और SA2 हवाई रक्षा इकाई शामिल है। हालांकि प्रवक्ता ने यह भी कहा कि इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि रॉकेट किसने दागे थे, लेकिन सीरियाई सीमा से हुए किसी भी तरह के हमले के लिए उनकी सेना को ही जिम्मेदार ठहराया गया।

Benjamin Netanyahu

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की चेतावनी

वहीं, इस हमले के बाद इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपने बयान में कहा, 'हम अपने सीमा में किसी तरह की गोलबारी या हमले को बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम खुद पर दिखाए गए किसी भी तरह की आक्रमकता पर उससे भी अधिक बल से जवाब देंगे।' इन हमलों से कुछ ही घंटों पहले इजराइली सेना ने जानकारी दी थी कि सीरिया ने गोलान हाइट्स की तरफ दो रॉकेट दागे। बता दें कि इससे पहले सोमवार को इजराइली सेना ने सीरिया के विमान-रोधी ठिकाने पर हमला किया, जिसने उसके एक युद्धक विमान पर गोलीबारी की थी। इस घटना में भी एक सीरियाई सैनिक मारा गया था।

संबंधित अन्य खबरें-

बीते वर्षों में बढ़ता जा रहा है दोनों देशों के बीच तनाव

बीते कई वर्षों में दोनों देशों के बीच तनाव लगातार बढ़ा है। इन वर्षों में इजराइल ने सीरिया पर करीब सैंकड़ों स्ट्राइक कर चुका है। इनमें से ज्यादातर हमले क्षेत्रीय दुश्मन ईरान और लेबनानी हिजबुल्ला समूह को निशाना बनाकर किए गए। इजरायल इन्हें अपनी सीमा का सबसे बड़ा दुश्मन मानता है। आपको बता दें कि ईरान और हिजबुल्ला इस सीरियाई लड़ाई में राष्ट्रपति बशर अल-असद की ओर से लड़ाई कर रहे हैं। इसपर इजराइल का मानना है कि वे सीरिया को उनके खिलाफ एक नए मोर्चे में बदलने की कोशिश कर रहे हैं। बता दें कि साल 2015 के युद्ध में रूस भी सीरिया की ओर से मैदान में था।

पढ़ें यह भी-

Golan Heights

काफी पुरानी है गोलान हाइट्स से जुड़ी लड़ाई

जिस जगह के लिए दोनों देशों को बीच इस वक्त तनाव जारी है उस गोलान हाइट्स को सीरिया ने 1967 के मध्यपूर्वी युद्घ में इजराइल को हारा था। बाद में इजरायल ने गुपचुप तरीके से इस क्षेत्र पर कब्जा जमा लिया, जिसके बारे में सिर्फ संयुक्त राज्य अमरीका को छोड़कर अधिकांश अंतरराष्ट्रीय समुदायों को खबर नहीं थी। खुद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मार्च में गोलान पर इजरायल की संप्रभुता के संबंध में अमरीकी-मान्यता की घोषणा की।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
Shweta Singh Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned