ईरान में बाढ़ का कहर, खाली कराए गए 70 से अधिक गांव

ईरान में बाढ़ का कहर, खाली कराए गए 70 से अधिक गांव

Mohit Saxena | Publish: Apr, 03 2019 04:47:33 PM (IST) | Updated: Apr, 04 2019 09:57:18 AM (IST) गल्फ

  • दो हफ्तों में कम से कम 47 लोग मारे गए
  • कई गांवों के जलमग्न होने का खतरा बना हुआ है
  • बांध 95 प्रतिशत से अधिक भरे हुए हैं

तेहरान। ईरान के अधिकारियों ने दक्षिण-पश्चिमी प्रांत खुज़ेस्तान में 70 से अधिक गांवों को खाली करने का आदेश दिया है। देश भर में और भीषण बाढ़ का प्रभाव है। कई बाढ़ वाले प्रांतों में आपातकाल के बीच मंगलवार को यह फैसला लिया गया। एक दशक में ईरान में हुई सबसे भीषण बारिश से आई बाढ़ से पिछले दो हफ्तों में कम से कम 47 लोग मारे गए हैं।

तेजी से बढ़ रहा है पानी

ईरान के रेड क्रीसेंट के प्रमुख अली असगर पयवंडी ने कहा कि डर था कि खुज़ेस्तान के कई गांव जलमग्न हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि बांधों के बहने की संभावना के साथ हमने एक लाख लोगों को सुरक्षित जगह पर पहुंचाने की तैयारी की है। खुज़ेस्तान में बांधों की एक विस्तृत श्रृंखला है, लेकिन अधिकारियों ने कहा कि पानी तेज दर से बह रहा था।

बांध 95 प्रतिशत से अधिक भरे हुए हैं

प्रांत के गवर्नर घोलमरेजा शर्याति ने कहा कि हमारे बांध 95 प्रतिशत से अधिक भरे हुए हैं। ईरानी मीडिया ने मंगलवार को कहा कि प्रभावित क्षेत्रों में बिजली और दूरसंचार ठप पड़ा है। सड़के पानी में जलमग्न हैं। लोग कुछ गांवों में छतों पर बचाव के लिए इंतजार कर रहे थे। राष्ट्रपति हसन रूहानी ने बाढ़ से जूझ रहे लोगों को मुआवजे का वादा किया है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned