Iraq में रॉकेट हमला, American Embassy को निशाना बनाने की साजिश

iranHighlights

  • हमले में ईरान (Iran) का हो सकता है हाथ, इससे पहले कई अमरीकी सैन्य अड्डों को निशाना बनाया।
  • ईरान (Iran) के नेता कासिम सुलेमानी ( Qasem Soleimani) की एयरस्ट्राक में हत्या के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा।

By: Mohit Saxena

Updated: 19 May 2020, 04:35 PM IST

बगदाद। इराक (Iraq) की राजधानी बगदाद (Bagdad) स्थित एक हाई सिक्यॉरिटी जोन में सोमवार को एक रॉकेट से हमला हुआ। माना जा रहा है कि इसे अमरीकी दूतावास पर निशाना बनाकर किया गया। इससे पहले भी कई हमले अमरीकी दूतावास को निशाना बनाकर किए गए। बीत साल ईरानी कमांडर कासिम (Kasim Solemani) सुलेमानी की एयर स्ट्राइक करके हत्या कर दी गई थी।

इस हमले को अमरीका ने अंजाम दिया। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का कहना था कि सुलेमानी की हत्या उसके खतरानाक मंसूबों के कारण की गई। वह आतंकी घटनाओं में संलिप्त था। वहीं ईरान का कहना था कि उसके खास नेता को बेवजह मार दिया गया। तभी से दोनों देशों के बीच तनाव बरकरार है। ईरान कई बार इराक में अमरीकी सैन्य अड्डों पर हमला कर चुका है।

सुरक्षा सूत्रों ने बताया कि बगदाद में अमरीकी दूतावास के नजदीक एक रॉकेट गिरा, बीते कुछ सप्ताह में पहली बार हाई-सिक्यॉरिटी इलाके में रॉकेट गिराया गया है। इसके बाद ब्लास्ट की आवाज राजधानी में सुनी गई। इस दौरान सुरक्षा के सायरन दूतावास के कम्पाउंड में सुने गए। इस घटना में किसी के हताहत की खबर नहीं है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इससे पहले कई बार कह चुके हैं कि अगर ईरान ने उसके सैनिकों पर किसी तरह का हमला किया तो तेहरान और उसके सहयोगियों को भारी कीमत चुकानी पड़े सकती है। 2015 के परमाणु डील से ट्रंप ने हटते हुए ईरान पर कई प्रतिबंध लगाए गए हैं।

Donald Trump डोनाल्ड ट्रंप
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned