सऊदी अरब के पुरुष अब पाकिस्तान समेत इन चार देशों की लड़कियों से नहीं कर पाएंगे शादी, जानिए क्या है वजह?

सऊदी अरब की सरकार ने अपने देश के पुरुषों पर पाकिस्तान के अलावा अन्य तीन देशों (बांग्लादेश, चाड और म्यांमार ) की लड़कियों व महिलाओं के साथ शादी करने पर रोक लगा दी है।

By: Anil Kumar

Updated: 20 Mar 2021, 09:58 PM IST

रियाद। शादी-विवाह करना हर व्यक्ति का अपना निजी मामला होता है। कौन किससे शादी करेगा या नहीं करेगा इसका निर्णय हर व्यक्ति का अपना होता है। लेकिन सऊदी अरब में अब कौन किससे शादी नहीं करेगा इसको लेकर एक नया फरमान जारी किया गया है।

दरअसल, सऊदी अरब की सरकार ने अपने देश के पुरुषों पर पाकिस्तान समेत चार देशों के लड़कियों व महिलाओं के साथ शादी करने पर रोक लगा दी है। पाकिस्तान के अलावा ये तीन देश बांग्लादेश, चाड और म्यांमार हैं, जहां की लड़कियों के साथ शादी करने पर सऊदी अरब के पुरुषों पर रोक लगाई गई है।

यह भी पढ़ें :- भारत समेत 20 देशों के नागरिकों को नहीं मिलेगा सऊदी अरब में प्रवेश, टूट सकता है हज यात्रा पर जाने का सपना

सऊदी मीडिया की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए पाकिस्तानी मीडिया डॉन ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि सऊदी सरकार ने अपने देश के पुरुषों पर पाकिस्तान समेत चार देशों की लड़कियों के साथ शादी करने पर रोक लगा दी है।

मक्का के पुलिस महानिदेशक मेजर जनरल असफ अल-कुरैशी के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि विदेशियों से शादी करने की इच्छा रखने वाले सऊदी पुरुषों को अब सख्त नियमों का सामना करना पड़ेगा। बता दें कि अनौपचारिक आंकड़ों के अनुसार, फिलहाल, सऊदी अरब में इन चार देशों की 50,000 महिलाएं रहती हैं।

शादी करने से पहले सरकार से लेनी होगी इजाजत

सऊदी सरकार के नए आदेश के अनुसार, अब किसी विदेशी लड़की से शादी करने से पहले सरकार से इजाजत लेनी पड़ेगी। मेजर जनरल असफ अल-कुरैशी के मुताबिक, विदेशी महिलाओं से शादी करने की इच्छा रखने वालें पुरुषों को पहले सरकार से अनुमति लेना अनिवार्य है। यदि कोई विदेशी महिला से शादी करना चाहता है तो उसे पहले आवेदन देना होगा।

यह भी पढ़ें :- सात फेरो से पहले दुल्हन के सामने आई दूल्हे की ऐसी सच्चाई, ऐन वक्त पर शादी से किया इनकार

कुरैशी ने आगे बताया कि तलाकशुदा पुरुषों को तलाक के छह महीने के भीतर आवेदन करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि आवेदकों की उम्र 25 साल से अधिक होनी चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि यदि कोई आवेदक पहले से शादीशुदा है तो उसे अस्पताल में जाकर ये प्रमाणित करना पड़ेगा कि उनकी पत्नी विकलांग है या पुरानी बीमारी से पीड़ित है या बांझ है।

ये है वजह

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सऊदी सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है ताकि अपने देश के पुरुषों को विदेशी लड़कियों के साथ शादी करने से रोका जा सके। हालांकि, अभी तक ये स्पष्ट नहीं है कि सरकार इन्हीं चार देशों की लड़कियों के साथ शादी करने से पुरुषों को क्यों रोक रही है। विदेशी लड़कियों से शादी करने की अनुमति जारी करने से पहले सरकार ने अतिरिक्त कुछ नियम तय किए हैं, जिसका पालन करना अनिवार्य होगा।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned