सऊदी अरब में सोशल मीडिया पर सरकार की निंदा करने पर होगी 5 साल की सजा

सऊदी अरब में सोशल मीडिया पर सरकार की निंदा करने पर होगी 5 साल की सजा

Mangala Prasad Yadav | Publish: Sep, 05 2018 08:08:33 PM (IST) गल्फ

सोशल मीडिया पर सरकार की निंदा करने वालों पर शिकंजा कस गया है। धार्मिक भावनाओं को आहत करने पर भी सजा मिल सकती है।

रियादः सऊदी अरब सरकार सोशल मीडिया पर सख्त हो गई है। इस खाड़ी देश में सोशल मीडिया पर सरकार की आलोचना या मजाक उड़ाने पर जेल की हवा खानी पड़ सकती है। इसके अलावा भारी भरकम जुर्माना भी वसूला जा सकता है। सरकार की तरफ से जारी बयान मे कहा गया है कि सोशल मीडिया पर ऐसे शब्द लिखना गैरकानूनी है जिससे सामाजिक और धार्मिक तौर पर लोगों की भावनाएं आहत होती हों। अगर कोई सरकार की निंदा भी सोशल मीडिया पर करेगा तो उसे साइबर अपराध का दोषी माना जाएगा।

5 साल की सजा के साथ होगा जुर्माना
दरअसल सऊदी अरब सरकार ने एक कानून बनाया है जिसके तहत साइबर क्राइम में दोषी साबित होने पर पांच साल तक की जेल की सजा हो सकती है। इसके अलावा दोषी पर 800,000 डॉलर का जुर्माना भी लगाया जा सकता है। अगर कोई शख्स सरकार के खिलाफ ऑनलाइन व्यंग्य कसता है तो वह साइबर क्राइम का दोषी माना जाएगा। सरकार के इस फैसले के बाद प्रशासन ने सोशल मीडिया पर सख्ती से निगरानी करना शुरू कर दिया है। फेसबुक और ट्वीटर पर विशेष रूप से निगरानी रखी जा रही है।

ये भी पढ़ेंः बांसवाड़ा : सोशल मीडिया पर वायरल वार्डों में खर्च हुई राशि की सूची, कांगे्रसी पार्षदों पर खूब मेहरबानी, अपनों से आंखें फेरी!

सरकार के फैसले का विरोध
सरकार के इस फैसले का देश भर में विरोध हो रहा है। लोग इस कानून को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के खिलाफ बता रहे हैं। सऊदी अरब के किंग मोहमम्द बिन सुल्तान की मानवाधिकार संगठनों ने कड़ी निंदा की है। इसके अलावा युवाओं में भी रोष देखा जा रहा है। लोगों का कहना है कि सरकार राजनीतिक असहमति रखने वाले लोगों को निशाना बना रही है। फिलहाल धार्मिक संस्थानों के कुछ लोग सरकार के फैसले के विरोध में है तो कुछ इसकी आलोचना में लगे हुए हैं।

Ad Block is Banned