सीरिया में तनाव के बीच राष्ट्रपति एर्दोगन का बड़ा बयान, बोले- हजारों प्रवासी सीमा पार कर पहुंचे EU

  • राष्ट्रपति एर्दोगन ( President Erdogan ) ने कहा कि 18,000 प्रवासी तुर्की की सीमाओं को पार कर यूरोप ( Europe ) पहुंच चुके है
  • सीरिया में रूस और तुर्की ( Tension Between Russia and Turkey ) में गहराते संकट के बीच एर्दोगन ने ये बड़ा बयान दिया है

By: Anil Kumar

Updated: 01 Mar 2020, 09:05 PM IST

इस्तांबुल। सीरिया ( Syria ) में तुर्की ( Turkey ) और रूस ( Russia ) के बीच चल रहे तनाव के बाद अब संकट और भी गहराने लगा है। दरअसल, बीते दिनों रूसी सैनिकों ( Russian Troops ) की ओर से तुर्की के 33 सैनिकों के मारे जाने के बाद तुर्की ने भी कार्रवाई करते हुए 45 सीरियाई सैनिकों ( Syrian Troops ) के मारने का दावा किया था।

रूसी हमले से तिलमिलाए तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन ( Turkish President Recep Tayyip Erdogan ) ने एक बयान देने हुए कहा था कि जल्द से जल्द हालात नहीं सुधरे तो यूरोपीय देशों ( European Country ) में प्रवासियों की बाढ़ ला देगा। अब ऐसा ही कुछ मामला सामने दिख रहा है।

तुर्की ने जवाबी कार्रवाई में 45 सीरियाई सैनिकों को मारने का किया दावा, इलाके में बढ़ा तनाव

अब एर्दोगन ने कहा है कि अंकारा द्वारा प्रवासियों ( Migrants ) के यात्रा करने के लिए अपने दरवाजे खोलने के बाद 18,000 प्रवासी तुर्की की सीमाओं को पार कर यूरोप पहुंच चुके हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, तुर्की में इस समय सीरिया के 37 लाख प्रवासियों के साथ-साथ अफगानिस्तान जैसे अन्य देशों के प्रवासी रुके हुए हैं।

बता दें कि यूरोपीय संघ ( EU ) से एक करार के तहत तुर्की सरकार ने प्रवासियों को पहले यूरोप के लिए रवाना होने से रोक दिया था। लेकिन अब एर्दोगन ने ईयू पर अपना वादा तोड़ने का आरोप लगाते हुए ये बयान दिया है।

18 हजार प्रवासी यूरोप में कर चुके हैं प्रवेश

बीबीसी ने शनिवार को एर्दोगन के दिए बयान के हवाले से बताया है कि हमने महीनों पहले कहा था कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो हमें रास्ते खोलने होंगे। उन्हें हमपर विश्वास नहीं था, लेकिन हमने कल (शुक्रवार को) दरवाजे खोल दिए।

उन्होंने आगे कहा कि लगभग 18,000 प्रवासी शनिवार सुबह तक यूरोप में प्रवेश कर चुके हैं। आगामी दिनों में यह संख्या 25,000 से 30,000 तक पहुंच सकती है। हालांकि एर्दोगन ने अपने दावों की पुष्टि के लिए कोई साक्ष्य नहीं दिया।

सीरिया: रूसी हवाई हमले में इदलिब में तुर्की के 33 सैनिक मारे गए, NATO ने की मॉस्को की निंदा

एर्दोगन ने कहा कि हम आगामी समय में ये दरवाजे बंद नहीं करेंगे और यह जारी रहेगा। क्योंकि ईयू ने अपने वादे पूरे नहीं किए हैं और उसे निभाने की जरूरत है। हमें इतने शरणार्थियों को खाना खिलाकर उनकी देखभाल नहीं करनी है। इस बीच यूनानी सरकार ने कहा कि उसने ग्रीस में प्रवेश करने के 4,000 प्रयासों को असफल कर दिया था।

बीबीसी ने सरकार के प्रवक्ता स्टेलियोस पेट्सास के शनिवार के बयान के हवाले से बताया है कि सरकार अपनी सीमाओं की रक्षा के लिए सब कुछ करेगी। शनिवार को बाद में यूनानी पुलिस तथा प्रवासियों के बीच झड़प भी हुई। इस दौरान यूनानी प्रशासन ने भीड़ को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले दागे।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned