रात भर में हुई 9 सेमी बारिश

रात भर में हुई 9 सेमी बारिश

Brajesh Kumar Tiwari | Publish: Sep, 08 2018 08:45:43 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

जिले में पिछले करीब एक पखवाड़े से जारी रिमझिम बारिश के बाद शुक्रवार शाम से शुरू हुई तेज बारिश ने जिले भर में हाहाकार मचा दिया। अधिकांश नदी नालों के उफान पर आने से रास्ते बंद हो गए और घरों व बस्तियों में पानी भर गया। एक दर्जन से अधिक कच्चे मकान गिर गए और लोगों की गृहस्थी का सामान खराब हो गया। वहीं उड़द के साथ अब सोयाबीन की फसल भी बर्बाद होने लगी है। सबसे ज्यादा बमोरी व म्याना में हालात बिगड़े। शनिवार सुबह से भी दिन भर रिमझिम बारिश होती रही।

गुना. शुक्रवार सुबह 8.30 बजे से शनिवार सुबह 8.30 बजे के बीच जिले में 97.4 मिमी औसत बारिश हुई। सबसे ज्यादा बारिश 175 मिमी बमोरी तहसील में दर्ज की गई। भारी बारिश के कारण बमोरी क्षेत्र में हालात बिगड़ गए। बमोरी व म्याना कस्बे के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी बाढ़ जैसे हालात बन गए। नदी-नालों के उफान पर आने से अधिकांश रास्ते बंद हो गए और सैंकड़ों गावों का सड़क संपर्क टूट गया। जहां देखों पानी ही पानी नजर आ रहा था। बारिश के कारण मधुसूदनगढ़ से भोपाल जाने वाला रास्ता बंद हो गया। जिससे भोपाल सहित आसपास के गांवों का सड़क संपर्क कट गया। इसके अलावा गुना से फतेहगढ़ स्टेट हाईवे भौरा नदी के चढऩे से बंद हो गया। पुलियाओं पर पानी होने के बावजूद सुबह लोग जान को जोखिम में डालकर इन्हें पार करते रहे। अधिकांश पुलियाओं पर सुरक्षा के लिए जवानों की तैनाती नहीं की गई। वहीं शुक्रवार रात में 11 बजे और शनिवार को 10 बजे बाढ़ राहत कंट्रोल रूम का फोन उठाया नहीं गया। लोग परेशान होते रहे। बमोरी में शुक्रवार-शनिवार की रात को भारी बारिश ने बाढ़ जैसे हालात पैदा कर दिए हैं। तहसील मुख्यालय से गांवों का संपर्क कट गया। छोटे-बड़े सभी पुल-पुलियाओं पानी आ गया। न तो बच्चे स्कूल जा पाए और न ही शिक्षक। गांवों के स्कूलों में सन्नाटा पसरा रहा। फतेहगढ़ व बमोरी के आसपास के कुछ स्कूल परिसर तालाब में बदल गए। सारे तालाब रामपुर, बाडिया नाला,आकोदा, समरसिंगा तालाब ओवर फ्लो हो गए। जिससे आसपास के खेतों में पानी भर गया। रामपुर तालाब ओवर फ्लो होने से भौंरा मार्ग बंद हो गया। गांव में 30 फुट की ऊंचाई पर स्थित मंदिर तक पानी पहुंच गया। बाडिया नाला तालाब से पानी आने के कारण श्यामपुर बींदाखेड़ा का रास्ता बंद हो गया और समरसिंगा से झागर का व समरसिंगा मार्ग बंद हो गए। आकोदा तालाब से मंगरोडा, फतेहगढ़, खड़ेला रास्ता बंद है। जिससे खेतों में पानी भर गया और फसलें बिछ गईं। वहीं ब्लॉक के मूडऱा हनुमान, सूजाखेड़ी, सामरसिंगा, झागर सहित अन्य गांवों में पानी भर गया।

 

बमोरी में औसत से ज्यादा, चांचौड़ा में सबसे कम बारिश
गुना जिले में 8 सितंबर तक 904.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। जो कि सामान्य वर्षा का 85.8 प्रतिशत है। जिले में गतवर्ष इसी अवधि में 555.0 मिमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1053.5 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख के अनुसार 8 सितंबर को सुबह 8 बजे तक गुना में 979.6 मिलीमीटर, बमौरी में 1088, आरोन में 766.5, राघौगढ़ में 880, चांचौड़ा में 747 तथा वर्षामापी केन्द्र कुम्भराज में 962 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है। बीते 24 घंटे में 8 सितंबर को सुबह 8 बजे तक 97.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। इस दौरान वर्षामापी केन्द्र गुना में 110.6, बमौरी में 175, आरोन में 72, राघौगढ़ में 83, चांचौड़ा में 55 तथा वर्षामापी केन्द्र कुम्भराज में 89 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned