भाजपा नेता के पिटने के बाद पार्टी में फूट, दर्ज नहीं करा पाए एफआईआर

भाजपा नेता के पिटने के बाद पार्टी में फूट, दर्ज नहीं करा पाए एफआईआर

asif siddiqui | Publish: Mar, 14 2018 02:53:29 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

संगठन में आपसी फूट, दर्ज नहीं करा पाए एफआईआर, एसपी सौंपेंगे जांच रिपोर्ट, भाजयुमो के अध्यक्ष को पीटा था पुलिस ने।

गुना। बीते दिनों भाजयुमो के जिलाध्यक्ष सुशील दहीफले के साथ कोतवाली में हुए विवाद के बाद उनको पीटे जाने के मामले में भाजपा संगठन की आपसी फूट सामने आ रही है। संगठन का एक धड़ा भाजयुमो और पुलिस कर्मिर्यों के बीच राजीनामा कराने का प्रयास कर रहा है। वहीं दूसरा धड़ा इस मामले को गंभीरता से लेकर एफआईआर कराने के लिए प्रयासरत है। कुल मिलाकर ये है कि अभी तक की स्थिति में भाजपा जैसे संगठन पर पुलिस विभाग एफआईआर न करके भारी पड़ता नजर आ रहा है।

कार्यकर्ताओं में बढ़ रही नाराजगी
जिलाध्यक्ष एवं अन्य पदाधिकारियों के पिटने के बाद भी एफआईआर न होने को लेकर भाजयुमो कार्यकर्ताओं में नाराजगी इस कदर बढ़ती जा रही है कि कभी भी कार्यकर्ता संगठन के समक्ष सामूहिक इस्तीफे देकर अपनी नाराजगी जाहिर कर सकता है। इससे पूर्व भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष उमा पटवा के मामले में भी संगठन की दोषी पुलिस अधिकारियों को न हटवाकर किरकिरी हो चुकी है।उधर बयान के लिए भाजयुमो के पांच नेता सीएसपी कार्यालय पहुंचे और अपने बयान दर्ज कराए जिसमें नामजद पुलिस कर्मियों पर मारपीट किए जाने और एफआईआर दर्ज करने और निष्पक्ष जांच करने की बात कही।

थाने में बंद थे सीसीटीवी
वहीं दूसरी ओर भाजयुमो जिलाध्यक्ष सुशील दहीफले पुलिस कर्मियों पर जमकर मारपीट करने का आरोप पुलिस कर्मियों पर लगा रहे हैं। पुलिस कर्मियों के अनुसार कोतवाली के सीसीटीवी कैमरे बंद होने से इस घटना के फुटेज न मिलने से इसकी सच्चाई सामना आना मुश्किल बताई जा रही है।

बयान दर्ज कराने पहुंचे भाजयुमो नेता
सूत्र बताते हैं बीते रोज इस घटना के दोषी आरक्षक अपना बयान सीएसपी के समक्ष दर्ज कराने मंगलवार को देर शाम उनके कार्यालय मे पहुंचे। बयान दर्ज कराने वालों में मुख्य रूप से भाजयुमो जिलाध्यक्ष सुशील दहीफले, प्रदेश पदाधिकारी गौरव गर्ग, महामंत्री वीरेन्द्र धाकड़, उपाध्यक्ष सोनू लांचा और भाजपा के मंडल अध्यक्ष महाराज सिंह लोधा शामिल थे। खबर ये है कि सीएसपी राजेन्द्र सिंह रघुवंशी जांच करने के बाद अपनी रिपोर्ट एसपी निमिष अग्रवाल को सौंपेंगे।

Ad Block is Banned