शहर के बीचों बीच अलसुबह लाखों की डकैती, cctv में दिखे 16 बदमाश

घर की खिड़की के सरिए काटकर घर में घुसे बदमाश...बंधक बनाकर दो लाख नकद और सोने चांदी के जेवरात ले गए...

By: Shailendra Sharma

Published: 22 Jul 2021, 07:31 PM IST

गुना. गुना में बदमाशों ने अलसुबह डकैती की एक बड़ी वारदात को अंजाम देकर पुलिस के सामने चुनौती पेश की है। घटना शहर की उद्गम रेंजीडेंसी की है जहां रहने वाले हार्डवेयर कम्प्यूटर संचालक नीरज अग्रवाल के घर में अलसुबह बदमाशों ने धावा बोला और परिवार के सदस्यों को बंधक बनाकर नकदी और सोने चांदी के जेवरात लेकर फरार हो गए। बदमाशों की गैंग खिड़की के सरिए काटकर घर में घुसी थी, घर के पास ही लगे एक सीसीटीवी में बदमाशों की तस्वीरें कैद हुई हैं जिनकी संख्या करीब 16 बताई गई है। पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी हुई है।

ये भी पढ़ें- बेटी को ब्वॉयफ्रैंड के साथ स्कूटी पर देखा तो कर दी प्रेमी की हत्या, जानिए पूरा मामला

guna_daketi_2.png

बंधक बनाकर लूटे नकदी और जेवरात
बदमाश घर के पीछे बने एक मकान की दीवार के सहारे घर की खिड़की के सरिये को काटकर घर में दाखिल हुए थे। घर में दाखिल होने के बाद बदमाशों ने घर के सभी सदस्यों को बंधक बनाया और फिर जेवरात व करीब 2 लाख रुपए नकद लेकर फरार हो गए। बदमाशों के भागने के बाद परिवार के सदस्यों ने चैन की सांस ली और पुलिस को घटना के बारे में सूचना दी। व्यवसायी नीरज व उनके परिवार के लोग अभी भी दहशत में हैं और घटना के बारे में बताते बताते सहम उठते हैं।

ये भी पढ़ें- दूल्हे की गंदी बात, शादी में शामिल होने आई महिला को बनाया हवस का शिकार

guna_daketi_6.jpg

व्यवसायी नीरज ने बताई आपबीती
पत्रिका को व्यवसायी नीरज ने पूरी घटना की आपबीती बताई। उन्होंने बताया कि बदमाशों ने मेरे घर के पूजा वाले कमरे की खिड़की के सरिये को काटा और सुबह चार बजे के आसपास घर में दाखिल हुए। उस कमरे का दरवाजा खुला था, तो वहां से मेरे कमरे में आ गए। मोबाइल की रोशनी में एक कपड़े से मेरे हाथ-पैर बांध दिए, मेरी गर्दन पर कुछ पैनी सी चीज थी, वह रख दी थी। यह देखते ही मैं घबरा गया, उन्होंने मेरे दोनों मोबाइल अपने कब्जे में लिए। इसी बीच पत्नी और बच्चे भी उठ गए। यह बदमाश आठ-दस की संख्या में थे। उन्होंने मेरे हाथ से दो अंगूठी उतरवाई, तीसरी भी उतरवाने लगे तो मैंने कहा भैया यह पीतल की है, इसको मत उतरवाओ तो एक ने कहा गोली मार दो, मैंने कहा भैया गोली मत मार, जो ले जाना है, वो ले जा। इसके बाद उन्होंने मेरे बेटे निश्चय के भी हाथ-पैर बांध दिए। पत्नी ममता जो गले में सोने की चेन पहने थी, वह तोड़ने का प्रयास किया। चेन नहीं टूटी कतो उसे उतरवाया और पैर में पहने पायजेबी भी उतरवा लिए। इसके बाद बदमाशों ने कमरे की अलमारी में से नगदी निकाली, सोने-चांदी के जो जेवर रखे थे, उनको समेटा। सुबह चार से सवा चार बजे तक वे बदमाश मेरे इस कमरे में रहे, इसके बाद वे मेरे ही मुख्य द्वार से निकलते हुए चले गए। इसके बाद मेरी पत्नी ने पड़ोस में रहने वालों को फोन लगाया, वे लोग आए, इससे पहले मेरे और बेटे के हाथ-पैर जो बंधे थे, वह पत्नी ने खोले।

ये भी पढ़ें- कुंभ में मिली महिलाएं भेज रहीं अश्लील वीडियो, कहती हैं तुम भी भेजो वरना...

guna_daketi_4.png

जेवरात की तलाश में बिखेर दिया घर का सामान
कक्षा नवमीं में पढ़ने वाले निश्चय ने बताया कि बदमाशों ने जब मेरे हाथ-पैर बांधे, मैंने देखा कि पापा को भी उन लोगों ने बांध रखा था, मम्मी भी डर के मारे एक कोने में खड़ी थी, बहन भी डरी हुई थी। उन बदमाशों ने अलमारी में रखा पूरा सामान कमरे में फेंका, वे लोग अपना चेहरा ढंके हुए थे। कमरे में आठ-दस बदमाश थे जो तलाशी आदि कर रहे थे। मैं तो काफी डर गया था। घर से खाने-पीने का सामान और जिस कमरे की खिड़की से आए थे, उसमें भी रखी अलमारी से टूटी हुई ज्वेलरी समेत अन्य सामान भी ले गए है।

ये भी पढ़ें- बेवफा सनम ! 10 साल तक टीचर प्रेमिका ने पूरी की हर जरुरत, प्रेमी डॉक्टर ने दूसरी लड़की से की शादी

डकैती का मिला सुराग, संदिग्धों से पूछताछ
पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि शहर में पड़ी डकैती के मामले को गंभीरता से लेकर सीएसपी आकाश अमलकर, एसडीओपी बीपी तिवारी, के नेतृत्व में गुना शहर, बजरंगगढ़, धरनावदा थाना क्षेत्र में दविशें दिलाई गईं, दो संदिग्ध बदमाशों को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसके बाद डकैती में रविन्द्र पारदी, परवीन पारदी, विक्की पारदी निवासी ग्राम कनेरा और गिल्टया पारदी निवासी ग्राम खेजड़ा थाना धरनावदा एवं कुछ अन्य पारदियों के नाम बताए गए हैं। जिनकी गिरफ्तारी के लिए इनाम भी घोषित किया जा रहा है। उन दो संदिग्ध बदमाशों से पूछताछ चल रही है। पुलिस ने छह घंटे के भीतर इस डकैती का पर्दाफाश किए जाने का दावा किया है।

देखें वीडियो- आफत की बारिश- मकान ढहा, पुल क्षतिग्रस्त, जनजीवन अस्तवयस्त

 

Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned