गलती से आ गई गुना, परिजनों के पास पैसे नहीं कि घर ले जाएं

गलती से आ गई गुना, परिजनों के पास पैसे नहीं कि घर ले जाएं

Brajesh Kumar Tiwari | Publish: Sep, 05 2018 10:34:44 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

गुना. उत्तरप्रदेश के बस्ती जिले के छोटे से गांव बुदवल बाजार में रहने वाली एक महिला गलत ट्रेन में बैठ गई। जब वह गुना पहुंची तो उसे उसे गलती का अहसास हुआ और ट्रेन ज्यादा दूर न निकल जाए यह सोचकर गुना उतर गई।

गुना. उत्तरप्रदेश के बस्ती जिले के छोटे से गांव बुदवल बाजार में रहने वाली एक महिला गलत ट्रेन में बैठ गई। जब वह गुना पहुंची तो उसे उसे गलती का अहसास हुआ और ट्रेन ज्यादा दूर न निकल जाए यह सोचकर गुना उतर गई।
जिले में भटकता देख समाजसेवियों ने उसे सहारा दिया और परिजनों को किसी तरह सूचित किया। अब विडंबना यह कि उत्तरप्रदेश में रहने वाले महिला के परिजनों के पास इतने भी पैसे नहीं कि वह उसे घर वापस ले जाएं। दरअसल, बीती दो सितम्बर को शहर के समाजसेवी प्रमोद भार्गव को सूचना मिली थी कि एक महिला जो टूटी-फूटी हिंदी बोल रही है, वह फतेहगढ़ कस्बे में घूम रही है। भार्गव ने क्षेत्र से गुजरने वाली कुछ बस संचालकों से बात की और महिला को किसी तरह गुना बुलवा लिया। लेकिन डरी-सहमी महिला इसके आगे किसी अनहोनी के घर से किसी के साथ जाने तैयार नहीं हुई। बाद में कोतवाली पुलिस की एएसआई की मदद से महिला को पहले थाने ले जाया गया। बाद में उसे जिला अस्पताल के एनआरसी में स्थित वन स्टेप सेंटर में भर्ती कराया गया है।

महिला की भाषा किसी को समझ नहीं आ रही है, लेकिन वह दबी जुबान में अपने साथ र्दुव्यवहार की बात कह रही थी। वहीं उसके साथ दो साल का एक बच्चा भी है। डर की वजह से वह न तो किसी के हाथ से खाना खा रही है और न ही किसी से बात करती है। बस अपने छोटे से बच्चे को दुलारती रहती है। इस मामले में जिला प्रशासन को भी सूचित किया जा चुका है।
सरपंच का मानवीयता
महिला के परिजनों का पता लगा रहे समाजसेवियों ने किसी तरह बस्ती जिले की ग्राम पंचायत बड्डा गांव के सरपंच का नंबर खोज निकाला। जैसे ही सरपंच को मामले की जानकारी तो वह उसे ढूढ़ते हुए किसी तरह महिला के परिजनों तक पहुंच गए। जिन्होंने पैसों के अभाव में गुना आने से मना कर दिया।

सांसद को जानकारी
बस्ती क्षेत्र की महिला के गुना जिले में भटकने की जानकारी बस्ती के सांसद को भी समाजसेवी प्रमोद भार्गव द्वारा फोन पर दी गई। हालांकि उन्होंने अभी तक कोई प्रयास नहीं किए हैं। लेकिन स्थानीय प्रशासन को जानकारी देने की बात कही जा रही है। फिर परिजन गुना नहीं आ सके।

विदिशा के रूसिया से पकड़ा गया १४ साल से फरार पारदी बदमाश
धरनावदा. पुलिस ने पिछले १४ सालों से फरार चले हरे पारदी बदमाश को विदिशा जिले के रूसिया गांव से गिरफ्तार किया है। उसके विरुद्ध विभिन्न न्यायालयों से सात स्थाई वारंट जारी थे। एसपी निमिष अग्रवाल ने पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
थाना प्रभारी नीरज बिरथरे ने बताया, मुखबिर की सूचना पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में वे अपनी टीम के साथ रूसिया पहुंचे। यह गांव विदिशा जिले की कुरवाई तहसील में है और पारदी बाहुल गांव है। दबिश देकर २००४ से फरार अकबर (३५) पुत्र गोपी पारदी खेजरा चौक को गिरफ्तार किया। उसके विरुद्ध धरनावदा के अलावा विदिशा, लटेरी, शाह जहांपुर, शुजालपुर में कई गंभीर अपराध दर्ज हैं। साथ ही ५ स्थाई वारंट गुना से और एक-एक स्थाई वारंट विदिशा व शाहजहांपुर कोर्ट से जारी हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned