जिले भर में बंद, आरोन में झड़प

जिले भर में बंद, आरोन में झड़प

brajesh tiwari | Publish: Sep, 06 2018 08:43:09 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

एससी-एसटी विधेयक को लेकर बुलाए गए बंद का गुना में व्यापक असर देखने को मिला। जिले भर में बाजार, बसें, स्कूल सब बंद रहे। जिसके कारण लोग चाय, पानी व नाश्ते तक के लिए तरसते रहे। आरोन को छोड़कर शेष जिले में बंद शांतिपूर्ण रहा। यहां स्थिति संभालने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। मुख्यालय में आयोजन के बाद रैली निकालने को लेकर १८ लोगों को गिरफ्तार किया गया।

गुना. पिछले तीन दिनों से चल रही तैयारियों को असर गुरूवार को बंद के दौरान साफ नजर आया। दुकानदारों सहित बस, पैट्रोल पंप व स्कूल संचालकों ने स्वैच्छा से बंद का समर्थन करते हुए अपने प्रतिष्ठान बंद रखे। हालत यह थी कि लोग चाय, नाश्ते और पानी तक को तरसते रहे। सुबह १० बजे तक तो कुछ दुकानें खुलीं, इसके बाद पुलिस ने एहतियातन उन्हें भी बंद करवा दिया। पैट्रोल पंपों पर भी सुबह १० बजे तक लोगों की कतारें लगी रहीं। कहीं-कहीं इक्का-दुक्का ठेले खड़े नजर आए। सब्जी मंडी में सब्जी की दुकानें लगीं। ९ बजे तक माहौल पूरी तरह शांत रहा। इसके बाद लोगों का प्रताप छात्रावास में पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। सुरक्षा व कानून व्यवस्था के लिए जगह-जगह तैनात पुलिस के जवान किसी को देर तक एक जगह खड़ा नहीं होने दे रहे थे। झुंड बनने पर तुरंत आकर लोगों को हटाया गया। जय स्तंभ चौराहे पर बैठने वाले मजदूरों को भी एक जगह पर खड़ा नहीं हो दिया गया और बार-बार मजदूरों को भी पुलिस ने तितर-बितर किया। पुलिस जवानों के लिए अन्य कर्मचारियों की भी ड्यूटी लगाई गई और सीसी टीवी कैमरों से भी पूरे शहर पर नजर रखी गई। वहीं पुलिस के कुछ वाहन ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों को भोजन आदि पहुंचाने का काम भी कर रहे थे। हनुमान चौराहे पर भी बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था, ताकि शहर से बाहर व अन्य जिलों से यहां से आने वाले लोगों पर भी निगरानी रखी जा सके।

आरोन में नियंत्रण से बाहर हुए प्रदर्शनकारी, पुलिस ने किया बल प्रयोग
आरोन. एससी-एसटी एक्ट के विरोध का असर सुबह से ही आरोन में दिख रहा था। बाजार पूर्णत: बंद था। दिन चढ़ते-चढ़ते लोग सड़कों पर दिखाई देने लगे थे। इसके बाद प्रदर्शन करने वाले लोगो ंने नवीन मंडी में एकत्रित होकर सभा की और ज्ञापन सौंपा। लोग रैली निकालने के लिए तैयार होने लगे लेकिन एसडीएम केएल यादव वहीं ज्ञापन लेने पहुंच गए। जिससे नाराज लोगों ने नारेबाजी शुरू कर दी और उधर पुलिस भी जनता को खदेडऩे के लिए तैयार हो गई। नई मंडी से लेकर दास हनुमान चौराहा, गुलाब गंज चौराहा, पुराना बस स्टेंड और इंदिरा पार्क पर लोगों की भीड़ हंगामा कर रही थी। उत्पात को रोकने के लिए राधौगढ़ एसडीओपी ेने हल्के बल प्रयोग के निर्देश दिए। पुलिसकर्मी प्रदर्शनकारियों के लाठियां लेकर दौड़ते नजर आए। लोगों ने जमकर नारेबाजी की। जब स्थिति संभलती नहीं दिखी तो जिला मुख्यालय से अतिरिक्त बल बुलाया गया। इस दौरान एक युवक के गिरकर चोटिल हो जाने से कुछ लोग थाने के अंदर तक पहुंच गए। गुना से एएसपी टीएस बघेल फोर्स व बज्र वाहन के साथ वहां पहुंचे और स्थिति को संभाला, शाम को करीब ४ बजे स्थिति सामान्य हो सकी, पुलिस कई जगह तैनात रही।

Ad Block is Banned