राघौगढ़ बंद , भूख हड़ताल समाप्त

राघौगढ़ बंद , भूख हड़ताल समाप्त

Brajesh Kumar Tiwari | Publish: Sep, 02 2018 08:52:13 PM (IST) Guna, Madhya Pradesh, India

-प्रशासन ने दिया सात दिन का आश्वासन
-विवाद के चलते भारी पुलिस बल तैनात
-पूर्व सीएम दिग्विजय का ट्वीट, राघौगढ़ में दंगा भड़काने की कोशिश

राघौगढ़. शहर में कब्रिस्तान से श्मशान भूमि तक बढ़ते अतिक्रमण और वक्फबोर्ड की निर्मित दुकानों तथा सीमांकन को लेकर हिन्दू संगठन के अध्यक्ष बलराम पटवा द्वारा शुुरू की गई भूख हडताल रविवार को प्रशासन द्वारा सप्ताह भर के भीतर कार्रवाई करने के आश्वासन के बाद समाप्त हो गई। मांगों के समर्थन में रविवार को बंद के दौरान राघौगढ़ पुलिस छावनी में बदल गया। इस बीच प्रशासन और हिन्दू संगठन के बीच हुई वार्तालाप के बाद भूख हड़ताल समाप्त हो गई।
हिन्दू संगठन के अध्यक्ष बलराम पटवा ने श्मशान भूमि एवं कब्रिस्तान की जमीन के सीमांकन तथा विवादित दुकानों के मुद्दे को लेकर प्रशासन पर अनसुनी का आरोप लगाते हुए शनिवार को तहसील के समीप भूख हड़ताल पर बैठ गए थे। हड़ताल के दौरान प्रशासन और बलराम पटवा सहित हिन्दूवादी संगठनों के बीच मांगों को लेेकर चर्चा भी हुई, लेकिन सुलह नहीं हो पाई और रविवार को भूख हड़ताल बाजार बंद में बदल गई। इस बीच अपर कलेक्टर एके चांदिल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक टीएस बघेल एवं एसडीएम केएल यादव, एसडीओपी एसएस पटेल, तहसीलदार बजरंग बहादुर सिंह, टीआई डीपीएस चौहान सहित संगठन के नेताओं के बीच चर्चा के बाद 10 दिन के भीतर सीमांकन की कार्रवाई करने के आश्वासन के बाद अध्यक्ष बलराम पटवा को जूूस पिलाकर हड़ताल खत्म हो गई। इस दौरान हिन्दूवादी संगठन के गुलाब सिंह गुर्जर, अनिमेष भार्गव, नरेंद्र शर्मा, रमाकंात भार्गव, गोलू गुर्जर, श्याम ओझा, विष्णु गोपाल कासट, अग्निवेश त्यागी, सुधीर सेन सहित हिन्दू संगठन के सैकडो लोग हड़ताल के बीच बैठे रहे। जबकि इस बीच भाजपा नेता राधेश्याम धाकड, पवन जैन राममोहन चौकसे, कैलाश सुमन, राप्रसाद धाकड़ आदि ने पहुंचकर मुद्दे को हल करने की मांग उठाई।

हड़ताल जैसा कदम नहीं उठाना पड़ता: पटवा
हड़ताल और बाजार बंद को देखते हुऐ भारी संख्या में पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया। इसके पूर्व पटवा ने कहा कि राघौगढ़ शांति और सौहाद्र का प्रतीक है। यह मुद्दा समस्याओ का है। प्रशासन अगर समय रहते इस मुद्दे पर ध्यान दे देता तो शायद हड़ताल जैसा कदम नहीं उठाना पड़ता।


दिग्विजय सिंह ने किया ट्वीट
उधर, इस मामले को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने कहा, राघौगढ़ में हिंदू-मुस्लिम विवाद पैदा कर दंगा भड़काने का प्रयास जा रहा है, उसकी मैं निंदा करता हूं। उन्होंने राघौगढ़ के नागरिकों से शांति की अपील की।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned