लौकिक शिक्षा बच्चों को बड़ा अधिकारी तो बना देगी लेकिन सदाचारी नहीं

कलश स्थापना के साथ चंद्रप्रभु जिनालय की पाठशाला का वार्षिकोत्सव मना

By: Narendra Kushwah

Published: 26 Feb 2021, 10:19 PM IST

गुना। शुक्रवार को त्रिमूर्ति कॉलोनी स्थित चंद्रप्रभु जिनालय की आचार्य विद्यासागर दिगंबर जैन पाठशाला का 16 वां वार्षिकोत्सव एवं कलश स्थापना समारोह उत्साह के साथ मनाया गया। इस मौके पर मुनि अभय सागर एवं आर्यिका पवित्रमति माता के ससंघ सानिध्य में कलश स्थापना, जिनवाणी विराजमान, कार्यालय उद्घाटन सहित विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हुए। इस अवसर पर बच्चों एवं अभिभावकों को संबोधित करते हुए आर्यिका पवित्रमति माता ने कहा कि लौकिक शिक्षा बच्चों को बड़ा अधिकारी तो बना देगी लेकिन सदाचारी नहीं बना पाएंगी। एक सच्ची मां अपने बच्चे को धार्मिक संस्कार देने उसे पाठशाला भेजेगी तो बड़े होकर बच्चा सर्विस के साथ आपकी सेवा भी करेगा।
हमारे बच्चों को मातृ भाषा तक ठीक से नहीं आती
इस अवसर पर मुनि निरीह सागर ने कहा कि अन्याय अनीति से की गई कमाई का परिणाम अच्छा नही निकलता। धर्म बांसुरी के समान है जबकि नगाड़ा संसारिक चकाचौंध है। बांसुरी की आवाज हमेशा सुरीली लगती है लेकिन नगाड़े की कभी कभार ही। इस मौके पर प्रभात सागर ने कहा कि आज हमारे बच्चों को हमारी मार्तभाषा हिंदी भी ठीक से नहीं आती, संस्कृत की तो बात दूर की है। लौकिक शिक्षा के साथ-साथ धार्मिक संस्कार और ज्ञान देने के लिए पाठशाला भेजें।
उन्होंने कहा कि बच्चों को इतना लाड़ प्यार भी ना दो कि वह सिर पर बैठ जाएं। समय-समय पर डांट भी जरूरी है। इस अवसर पर मुनि अभय सागर ने कहा कि भागमभाग जीवन मे इंसान धर्म का शार्टकट चाहता है। जीवन में जो क्रियाएं हम कर रहे हैं, उनमें अधिकांश राग और द्वेष की क्रियाएं हैं। समता मूलक क्रियाएं हम कम करते हैं।
आज हम जो कुछ भी हैं, बचपन में पाठशाला में मिले संस्कारों के कारण हैं। शिक्षा तो कहीं भी मिल जाएगी लेकिन संस्कार सिर्फ पाठशाला में ही मिलेंगे। इस मौके पर पाठशाला की संचालिका प्राची जैन ने बताया कि पाठशाला की स्थापना मुुनि प्रशांत सागर एवं निर्वेग सागर की प्रेरणा से हुई थी। कार्यक्रम के दौरान पाठशाला के बच्चों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।

Narendra Kushwah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned