scriptDeath of only son due to electrocution, wife pregnant, three-year-old | करंट लगने से इकलौते पुत्र की मौत, पत्नी गर्भवती, तीन साल की एक बच्ची भी | Patrika News

करंट लगने से इकलौते पुत्र की मौत, पत्नी गर्भवती, तीन साल की एक बच्ची भी

गोपालपुरा में खेत की तारफेंसिंग करने के दौरान हुई दुर्घटना
कंधे पर लोहे की जाली रखकर ले जाते समय ऊपर से गुजरे बिजली के तार से टकराई
आरोन में करंट लगने से दो गायों की भी मौत

गुना

Published: July 29, 2021 01:11:03 am

गुना. बारिश शुरू होते ही करंट लगने की घटनाएं एकाएक बढ़ गई हैं। बुधवार सुबह एक मजदूर को खेत की तारफेंसिंग के दौरान करंट लग गया। जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई। वहीं आरोन में दो गायों की मौत का कारण भी करंट ही बना है। इन दोनों ही घटनाओं में बिजली कंपनी की लापरवाही सामने आई है। फर्क सिर्फ इतना है कि गुना में जिस इकलौते पुत्र की मौत करंट से हुई वहां किसी ने कोई विरोध दर्ज नहीं कराया जबकि आरोन में गायों की मौत को लेकर गौसेवकों ने सड़क पर जाम लगाकर तीखा विरोध दर्ज कराया।
3 साल की बच्ची और गर्भ में पल रहे बच्चे से पिता का साया छिना
शहर की मुहाल कालोनी निवासी प्रेमा सिंह ओझा को बुधवार सुबह जब यह पता चला कि मनोज को आज सुबह ही मजदूरी मिल गई है। यह सोचकर वह खुश थे। थोड़ी देर बाद मनोज अपने दो साथियों के साथ गोपालपुरा में बाबूलाल ओझा के खेत पर तारफेंसिंग की जाली लगाने चला गया। बताया जाता है कि जाली को कंधे पर रखकर मनोज आगे चल रहा था जबकि उसके दो साथी पीछे थे। इसी दौरान मनोज के कंधे पर रखी जाली ऊपर से गुजर रहे बिजली के तार से छू गई और तार टूटकर नीचे गिर गया। इसी दौरान मनोज को इतना जबरदस्त करंट लगा कि वह मौके पर ही बेहोश हो गया। यह नजारा देख सभी घबरा गए। आनन फानन में मनोज को शहर के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। जहां से उसे जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया। यहां डॉक्टर ने जांच उपरांत मृत घोषित कर दिया सूचना मिलने पर पुलिस ने शव का पीएम कराकर मर्ग कायम मामला जांच में ले लिया है। वहीं इसी हादसे के बाद मनोज की पत्नी व पिता व अन्य परिवारजनों का रो-रोकर बुरा हाल रहा। क्योंकि मनोज अपने पिता की इकलौती संतान था।
-
पिता सब्जी बेचकर परिवार का पालन पोषण करता है
अपने इकलौते पुत्र की मौत से उसका पिता इतना ज्यादा आहत था कि जब अस्पताल चौकी में उससे बयान लिए जा रहे थे तब वह बेहोश हो गया। उसे बिठाकर पानी पिलाया गया तब कुछ देर बाद वह होश में आया। अस्पताल में मनोज के अन्य परिवारजनों का रो-रोकर बहुत बुरा हाल था। पिता प्रेमा अहिरवार ने बताया कि उसके चार बच्चे हैं। जिनमें मनोज से बड़ी तीन बेटियां हैं जिनकी शादी हो चुकी है। मनोज की 4 साल पहले ही शादी हुई थी। उसकी एक बेटी हैं। वहीं उसकी पत्नी भी 4 माह की गर्भवती है। वह खुद सब्जी बेचते हैं। मनोज हर दिन मजदूरी कर अपने परिवार का पालन पोषण करता था। उसे मजदूरी पर आने जाने में परेशानी आती थी इसलिए उसे हाल ही में नई बाइक दिलाई थाी। अब सबसे चिंता पत्नी और परिवार के पालन पोषण की है।
--
करंट लगने से इकलौते पुत्र की मौत, पत्नी गर्भवती, तीन साल की एक बच्ची भी
करंट लगने से इकलौते पुत्र की मौत, पत्नी गर्भवती, तीन साल की एक बच्ची भी

गाायों की मौत से गुस्साए गौसेवकों ने सिरोंज रोड पर लगाया जाम
आरोन. नगर के सिरोंज रोड किनारे एसएलबीसी वेयर हाउस के पीछे गायों का झुंड विचरण करते हुए हरी घास खा रहा था उसी स्थान से विद्युत लाइन निकली थी। जो इतनी कमजोर थी की हवा के झोंके से विद्युत लाइन का तार टूटकर धरती पर घास चर रही 2 गायों के ऊपर गिर गया। जिससे मौके पर ही दोनों गायों की मौत हो गई। यह खबर जैसे ही गौ सेवकों को पता लगी वे तत्काल मौके पर पहुंचे ओर गायों को कंधों पर उठाकर स्टेट हाइवे पर लगाए। जहां उन्हें रखकर विद्युत विभाग की लापरवाही के खिलाफ एक घंटे तक सड़क जाम कर नारेबाजी की। सूचना मिलने के बाद तहसीलदार एवं थाना प्रभारी दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। यहां गौ रक्षा प्रखंड के प्रमुख छोटू ओझा ने बताया कि हमने विद्युत विभाग के आला अफसरों से कई बार सर्विस लाइन एवं विद्युत लाइन सुधारने के संबंध में निवेदन किया है परंतु हमारे निवेदन पर कोई ध्यान नहीं दे रहा। आज दो गायों की मौत भी विद्युत विभाग की लापरवाही की वजह से हुई है। अब हम आगे और गायों की मौत देखना नहीं चाहते हैं। विद्युत विभाग के अधिकारी इस मामले को गंभीरता से लें और जहां भी लाइन गड़बड़ है उसे ठीक करवाएं।
गौसेवकों की यह बात सुनने के बाद तहसीलदार ने मौके पर ही आश्वासन दिया तब जाकर गौसेवकों ने जाम खोला। विरोध प्रदर्शन के दौरान गौसेवक गौरव परिहार, हरिसिंह राजपूत, अंकित रघुवंशी, राज साहू, कमलेश साहू, धर्मेंद्र यादव, शशांक श्रीवास्तव, सतीश सहित कई गौ सेवक मौजूद थे।
-

गादेर के जंगल में 50 फुट ऊंचे पेड़ पर फांसी पर लटका मिला युवक
गुना . जिले के धरनावदा़ थाना क्षेत्र अंतर्गत गादेर के जंगल में एक युवक का शव 50 फुट ऊंचे पेड़ पर फांसी पर लटका मिला है। जिसके बारे में पुलिस फिलहाल जानकारी जुटा रही है। युवक ने खुद फांसी लगाई है या फिर उसकी हत्या कर यहां उसे लटकाया है। इन सब पहलुओं पर पुलिस ने जांच कर रही है। फिलहाल पुलिस ने शव का पीएम कराकर मर्ग कायम कर मामला विवेचना में ले लिया है।
धरनावदा थाना प्रभारी के मुताबिक गादेर के जंगल में बुधवार को सुबह एक युवक पेड़ पर फांसी के फंदे पर लटका मिला है। जिसकी पहचान चिंटू पुत्र मोहर सिंह भील (25) निवासी फतेहपुर थाना मृगवास के रूप में हुई है। युवक जिस पेड़ पर फांसी के फंदे पर लटका मिला है उसकी ऊंचाई करीब 50 फुट पाई गई है। फंदा लगाने वाली रस्सी प्लास्टिक की मिली।
पुलिस का कहना है कि युवक ने आत्महत्या की है या फिर उसे यहां हत्या कर लटकाया गया है। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगी। पुलिस के अनुसार लाश करीब 48 घंटे पुरानी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.