कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में जिला बनने की हुई थी घोषणा, एक साल बाद भी अमल में नहीं

जनता बोली, जिला बनाने की घोषणा पर जल्द हो अमल, जिससे चांचौड़ा का हो तेजी से विकास
-भाजपा और कांग्रेस की राजनीति में फंसा विकास

By: Narendra Kushwah

Published: 03 Apr 2021, 12:01 AM IST

गुना। लंबे समय से प्रयासरत चांचौड़ा को जिला बनाने की कवायद कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में पूरी हुई, जिला बनाने की घोषणा तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 17 मार्च 2०2० को चांचौड़ा के विधायक व पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह की मांग पर की थी। इस मांग के बाद जिला बनाने की घोषणा पर जो प्रशासनिक कागजी कार्रवाई कर अमल में लाना था, वह अभी तक अमल में नहीं आ पाई। जिसका परिणाम ये है कि विकास को लेकर चांचौड़ा की जनता की जो उम्मीद थी, वह पूरी नहीं हो पाई। विकास न होने की वजह भाजपा और कांग्रेस की आपसी राजनीति भी है। इस क्षेत्र से पूर्व में रहे विधायकों की बात की जाए तो यहां से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के अलावा प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं गुना जिले से मंत्रिमंडल में प्रतिनिधित्व करने वाले महेन्द्र सिंह सिसौदिया के बाबा सागर सिंह सिसौदिया भी यहां से विधायक रह चुके हैं।खबर ये है कि एक बार फिर चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह इस मांग को लेकर जनता के जरिए सरकार से अपनी लड़ाई तेज कर सकते हैं। उधर चांचौड़ा विधानसभा क्षेत्र की जनता की और से पूर्व में हुई जिला बनाने की घोषणा को अमल में लाने की मांग करने की बात सामने आने लगी है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गुना जिले में शामिल रहे चांचौड़ा विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या दो लाख 3 हजार 2०5 है। आबादी की बात की जाए तो जिला बनने वाले चांचौड़ा की आबादी 3 लाख 73 हजार 316 है।चांचौड़ा विधानसभा क्षेत्र में कुंभराज, मकसूदनगढ़, चांचौड़ा में सबसे अधिक आबादी मीना समाज की है, दूसरे नम्बर पर अनुसूचित जाति व जनजाति, तीसरे नम्बर पर गुर्जर-भील समाज निवास करता है। इसके अलावा क्षत्रिय, विश्वकर्मा, कुंभकार आदि जाति के लोग भी रहते हैं। मीना समाज की बहुतायत संख्या होने से चांचौड़ा विधानसभा की सीट का विधानसभा में प्रतिनिधित्व मीना समाज की और से शिवनारायण मीणा और ममता मीणा कर चुके हैं।

चांचौड़ा जिला बनने से इन क्षेत्र को होता फायदा
चांचौड़ा के लोगों के अनुसार जिला बनने से चांचौड़ा व आसपास के गांव में रहने वाले लोगों को 70 किमी दूर गुना नही जाना पड़ता। शिक्षा के क्षेत्र में अभी यहां कॉलेज हैं लेकिन विशेषज्ञ फैकल्टी के अभाव में विद्यार्थी पढऩे के लिए गुना जाते हैं। उनको चांचौड़ा में रहकर ही पढ़ाई करने का लाभ मिल पा रहा है। वहीं चांचौड़ा में वर्षों से लंबित पड़ी पार्वती नलजल योजना और सिंचाई के साधनों का विकास होने से क्षेत्रवासियों व किसानों को लाभ मिलना शुरू नहीं हो पाया है।
समय और पैसे की होगी बचत
मधुसूदनगढ़ और कुंभराज तहसील में रहने वाले लोगों से पत्रिका ने चांचौड़ा को जिला बनाए जाने को लेकर चर्चा की तो उनका कहना था कि अभी तक किसी भी मामले की सुनवाई के लिए गुना में स्थित जिला न्यायालय जाना पड़ता है और शिकायत करने के लिए गुना आकर पुलिस अधीक्षक और कलेक्टर के कार्यालय पर आना पड़ता है चांचौड़ा के जिला बन जाने के बाद गुना आने में जहां हमको समय की बचत होगी, वहीं पैसे की भी बचत होगी।
दिग्विजय और सिसौदिया भी रह चुके हैं यहां से विधायक
गुना जिले की चांचौड़ा विधानसभा सीट वर्ष 1951 में अस्तित्व में आई थी।इस सीट के इतिहास पर नजर डाली जाए तो इस सीट से सन् 1957 और सन् 1967 में प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री व बमौरी विधानसभा के विधायक महेन्द्र सिंह सिसौदिया के दादा सागर सिंह सिसौदिया यहां से विधायक रह चुके हैं। इस सीट से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के लिए सन् 1994 में शिवनारायण मीणा ने सीट छोड़ी थी, दिग्विजय सिंह यहां से चुनाव लड़कर विधायक बने थे। सन् 2०18 के विधानसभा चुनाव में भाजपा नेत्री ममता मीणा को हराकर दिग्विजय सिंह के अनुज लक्ष्मण सिंह कांग्रेस की ओर से लड़कर जीते थे।
इनका कहना है
-चांचौड़ा की जनता की मांग पर जिला बनाने का आग्रह तत्कालीन मुख्यमंत्री कमलनाथ से किया था, उन्होंने इस मांग को पूरी कर यहां की जनता का सम्मान किया था। जिला बनने के बाद यहां विकास और तेजी से होता। जल्द ही इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चर्चा करेंगे।
लक्ष्मण सिंह विधायक कांग्रेस
-कमलनाथ की सरकार उनके विधायकों के छोड़कर चले जाने से अल्पमत में आ गई थी, उस समय चांचौड़ा को जिला बनाने की घोषणा की थी। इससे पहले उनको सुध नहीं आई। वहां की जनता और कांग्रेस नेताओं को चांचौड़ा विधायक से इस मसले पर पूछना चाहिए। चांचौड़ा जिला बने, यह हम सब चाहते हैं।
ममता मीणा पूर्व विधायक

Narendra Kushwah Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned