इस गांव का आधा हिस्सा नगरीय में तो आधा आता है पंचायत मेें , नहीें मिल रही सुविधाएं

इस गांव का आधा हिस्सा नगरीय में तो आधा आता है पंचायत मेें , नहीें मिल रही सुविधाएं

Narendra Kushwah | Updated: 26 Jun 2019, 11:59:45 AM (IST) Guna, Guna, Madhya Pradesh, India

एक किमी का रास्ता भी अधूरा
बारिश होने पर पूरी तरह से बंद हो जाता है मार्ग
दो भागों में बंट जाता है पिपरौदाखुर्द गांव

गुना। गुना जिले guna district के ग्राम पिपरौदाखुर्द में एक साल बाद भी पुल bridge नहीं बन सका है। यही नहीं एक किमी लंबा मार्ग भी अधूरा पड़ा हुआ है। जिससे लोगों को परेशानी trouble का सामना करना पड़ रहा है। गौर करने वाली बात है कि बारिश में यह रास्ता पूरी तरह से बंद हो जाता है। जिससे गांव के लोग दो भागों में बंट जाते है और लोगों को गांव के अंदर जाने के लिए काफी लंबा चक्कर लगाना पड़ता है। लोगों की यह परेशानी काफी समय से बनी हुई है लेकिन इस ओर न तो कोई जनप्रतिनिधि ध्यान दे रहा है और न ही अधिकारी।

guna

पंचायत और नगरीय में आता है गांव
जानकारी के मुताबिक ग्राम पिपरौदाखुर्द कैंट थाना क्षेत्र में आता है। गांव का एक हिस्सा नगरीय इलाके के वार्ड क्रमांक एक अंतर्गत जबकि दूसरा हिस्सा ग्राम पंचायत इलाके में आता है। यही वजह है कि इलाके में विकास कार्य अवरुद्ध हैं। जिसका एक उदाहरण है यहां बनने वाले पुल व रास्ता। जिसका निर्माण बीते एक साल पहले शुरू हुआ था लेकिन अभी तक पूरा नहीं हो सका है। चिंता की बात ये है कि जिले में मानसून ने दस्तक दे दी है, ऐसे में जल्द निर्माण कार्य पूरा होना संभव नहीं है। यानि कि इलाके के लोगों को एक बार फिर बारिश में परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

 

एक साल से सिर्फ स्ट्रक्चर खड़ा
पिपरौदाखुर्द वासियों के लिए इस मार्ग का बनना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि यह रास्ता पिपरौदाखुर्द को सीधे नगरीय इलाके से जोड़ता है। जिससे यहां के लोग सुगम तरीके से जिला अस्पताल, स्कूल व कॉलेज से लेकर अन्य कार्यों के लिए शहर में जा सकेंगे। लेकिन एक किमी लंबे मार्ग में तीन पुलों का निर्माण एक साल में भी नहीं हो सका है। वर्तमान में मात्र पिलर और स्ट्रक्चर ही खड़ा है। जबकि मार्ग में भी सिर्फ मुरमीकरण ही किया जा सका है। पूरे रास्ते में कई जगह निर्माण मटेरियल बिखरा हुआ है जिससे अभी भी लोग बमुश्किल निकल पा रहे हैं।

photo


निर्माण से संबंधित नहीं है जानकारी अंकित
पिपरौदाखुर्द में एक साल पहले पुल व मार्ग का निर्माण शुरू हुआ था। जिसके संबंध में कोई भी जानकारी मौके पर अंकित नहीं की गई है। यही कारण है कि लोगों को न तो यह पता चल पा रहा है कि यहां क्या निर्माण होना है जिसकी लागत क्या है तथा निर्माण एजेंसी कौन है। साथ ही यह कार्य कब शुरू हुआ और इसके निर्माण पूर्ण करने की अंतिम तिथि कब तक है।


यह बोले लोग
मेरी टेलरिंग की दुकान पिपरौदाखुर्द के नगरीय वार्ड क्रमांक एक में आती है लेकिन घर जिस जगह है वह पंचायत क्षेत्र में आता है। लेकिन पुल व मार्ग न बनने से बारिश में बहुत परेशानी आती है। दो किमी से ज्यादा लंबा फेर लगाकर दुकान व घर तक पहुंच पाता हूं।
जसवंत कुशवाह, नागरिक

guna district

पिपरौदाखुर्द गांव के बीच से एक नदी निकली है, जिस पर तीन पुल बनने हैं, जो एक साल बाद भी नहीं बन पाए हैं। इसलिए इस बार फिर बारिश होने पर यह मार्ग बंद हो जाएगा और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा।
भगवत बघेले, नागरिक

 


हमारी नहीं सुनते अधिकारी
हमारी पिपरौदाखुर्द पंचायत में पुल निर्माण पीडब्ल्यूडी करवा रहा है। जिसने अब तक काम पूरा नहीं किया है। पुल निर्माण कार्य शुरू हुए एक साल से भी ज्यादा समय हो चुका है। लेकिन अभी तक तीन में से एक भी पुल पूरा नहीं बन सका है। इसलिए एक बार फिर से बारिश में यह रास्ता बंद हो जाएगा और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। पुल निर्माण को लेकर हम कई बार पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से गुहार लगा चुके हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं करता।
गंगाराम यादव, सरपंच ग्राम पंचायत पिपरौदाखुर्द

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned