scriptFamilies of employees posted in government departments living in Briti | अंग्रेजों के जमाने के अस्तबल में रह रहे सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारियों के परिवार | Patrika News

अंग्रेजों के जमाने के अस्तबल में रह रहे सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारियों के परिवार

नारकीय जीवन जीने को मजबूर सिविल लाइनवासी
छोटे बच्चे साइकिल से प्रतिदिन ढोते हैं पानी
छत पर चढ़ीं हैं वर्षों पुरानी खपरैल और टीनशेड
हवा के साथ तेज बारिश होने पर घर हो जाते हैं पानी से लबालब

गुना

Published: June 26, 2022 01:48:00 am

गुना. शहर के कैंट क्षेत्र में स्थित सिविल लाइनवासी पिछले काफी समय से नारकीय माहौल में रहने को विवश हैं। यहां बने भवनों की हालत बहुत खराब है। जरा सी बारिश होने पर छतों से पानी टपकने लगता है। कई आवासों में पिछले 5 साल से पेयजल व्यवस्था नहीं है। परिवार के छोटे बच्चे साइकिल से प्रतिदिन पानी ढोते हैं। आवासों के आसपास नालियां चौक पड़ी हैं। कचरे का उठाव कई-कई दिनों तक नहीं होता। स्टेट टाइम के बने भवनों की हालत बेहद जर्जर हो चुकी है। जिसका मेंटनेंस नहीं किया जा रहा है।
जानकारी के मुताबिक शहर के कैंट क्षेत्र में जो सिविल लाइन आवास हैं, वह अंग्रेजों के जमाने में अस्तबल हुआ करते थे। उनका डिजाइन आज भी उसी हिसाब का बना हुआ है। इन भवनों में इस समय सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारी परिवार सहित निवास कर रहे हैं। चिंता की बात यह है कि इन आवासों की मरम्मत पिछले कई सालों से नहीं की गई है। इसलिए छत से लेकर दीवार बेहद जर्जर हो चुकी हैं। कुछ आवासों पर मिट्टी की खपरैल चढ़ी हुई, जिसमें से पानी रिसकर अंदर आ जाता है। कुछ परिवारों ने इस परेशानी से बचने बरसाती चढ़ा ली है तो कुछ ने टीनशेड। लेकिन यह इंतजाम भी तेज हवा के साथ हुई बारिश में नहीं बचा पाते। बारिश में एक और समस्या आवासों की निचाई की वजह से आती है। लगातार बारिश होने पर घरों के अंदर पानी भरने लगता है। क्योंकि भवन जमीन लेवल पर ही हैं। वहीं पक्की नालियां भी नहीं बनी हैं। यहां रहने वाले लोगोंं ने ही अपने स्तर पर नालियां खोद ली हैं लेकिन पानी निकासी के उचित इंतजाम न होने से घरों के आसपास ही पानी जमा हो जाता है।
-
पहले पुराना बिल भरो तब होंगे चालू
सिविल लाइन क्षेत्र में रहने वाले कुछ परिवार पेयजल संकट का सामना कर रहे हैं। पत्रिका टीम दोपहर 1 बजे जब यहां पहुंची तो चार-पांच मासूम बच्चे छोटी साइकिल से पानी ढोते नजर आए। इसका कारण उनके परिवार के सदस्यों से पूछा तो उन्होंने बताया कि सिविल लाइन कैंपस में पास ही बनी टंकी से नल आते हैं लेकिन कुछ घरों में यह सप्लाई पिछले 5 साल से चालू नहीं है। क्योंकि इन आवासों में जो कर्मचारी रहते हैं उनके द्वारा बिल जमा न करने की बात विभाग के अधिकारी बता रहे हंंैं। उनका कहना है कि जब तक पुराना पूरा बिल जमा नहीं होगा तब तक वह नल सप्लाई नहीं दे पाएंगे। वर्तमान में रह रहे परिवार के समक्ष परेशानी यह है कि पुराना काफी बिल है, उसे वह चाहकर भी नहीं भर सकते। इसी मजबूरी के चलते उन्हें यह परेशानी उठानी पड़ रही है। घर के बड़े सदस्य नौकरी पर चले जाते हैं, ऐसे में छोटे बच्चों को ही प्रतिदिन पानी ढोना पड़ रहा है।
अंग्रेजों के जमाने के अस्तबल में रह रहे सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारियों के परिवार
अंग्रेजों के जमाने के अस्तबल में रह रहे सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारियों के परिवार
अंग्रेजों के जमाने के अस्तबल में रह रहे सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारियों के परिवारअंग्रेजों के जमाने के अस्तबल में रह रहे सरकारी विभागों में पदस्थ कर्मचारियों के परिवारgn250618.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar News: तेज प्रताप भी बन सकते हैं मंत्री, बिहार में 16 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तारBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.