चीखती रही नाबालिग फिर भी पीछा करते रहे तांत्रिक दरिंदे, जानिए क्या है मामला....

Deepesh Tiwari

Publish: Dec, 08 2017 12:31:26 (IST)

Guna, Madhya Pradesh, India
चीखती रही नाबालिग फिर भी पीछा करते रहे तांत्रिक दरिंदे, जानिए क्या है मामला....

Demo pic

गोपालपुरा तालाब क्षेत्र की घटना, अपनी इज्जत बचाने तीन किलोमीटर दौड़ी

गुना। चेहरे पर डर का भाव। पसीने से तर-बतर अंकल-अंकल कहती हुई दौड़ रही थी। तीन किलोमीटर के रास्ते में उसे चार-पांच लोग मिले, जिनको अंकल-अंकल कहते हुए मदद के लिए पुकारती रही, मगर किसी ने उसका न तो दर्द समझा और मदद के लिए वे आगे आए।

 

वह दौड़ती-दौड़ती एसएएफ क्वार्टरों के पास आकर एक जवान के दरवाजे पर रुकी और दरवाजा पीटना शुरू कर दिया। दरवाजा खुलते ही लड़की की हालत देखकर उस घर के लोग मदद के लिए आगे आए और उसको अपने यहां कुछ देर के लिए शरण दी। लड़की भी आधे घंटे में नॉर्मल स्थिति में आ पाई। उसके मुख से सुनी कहानी के बाद पुलिस को सूचना दी, जहां से एक टीम वहां पहुंची और उस लड़की को उसके घर तक पहुंचाया।

यह कहानी मठकरी कॉलोनी में रहने वाली बगैर पिता की उस बालिका की व्यथा है, जो झाडू-पौंछा करने वाली अपनी मां के साथ रह रही थी। जिसको उसके ही पड़ौस में रहने वाला मुस्लिम युवक पूजा के बहाने बहला-फुसलाकर गोपालपुरा तालाब के सूनसान क्षेत्र में दुष्कर्म करने के इरादे से ले गया था। जहां उसके कुछ कपड़े ही इरफान नामक युवक ने उतारे थे कि इसी बीच उस लड़की ने अपनी इज्जत बचाने के लिए साहस का परिचय देते हुए उसको धक्का देकर पटका और भाग निकली, इरफान मोटा होने की वजह से कुछ दूर दौड़ा, लेकिन हांफते हुए वहीं बैठा रह गया।

पुलिस ने तलाशा आरोपी को

कोतवाली पुलिस ने इस मामले के संज्ञान में आते ही सक्रिय होकर बलिका का दर्द सुनने के बाद आरोपी इरफान के विरुद्ध बहला-फुसलाकर ले जाने का मामला दर्ज किया। आरोपी के तलाशने के बाद न मिलने पर उसके दो-तीन परिजनों को पुलिस ने बिठाल लिया। कोतवाली प्रभारी विवेक अष्ठाना का कहना था कि युवक उसे बहला-फुसलाकर पूजा करने के नाम पर ले गया था, उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है, आरोपी इरफान की तलाश की जा रही है।

ये है कहानी

मठकरी कॉलोनी में रहने वाले एक परिवार के मुखिया कुछ समय पूर्व बीमार हो गया था, जिसको ऊपरी चक्कर समझकर झाड़-फूंक कराने पड़ौस में ही रहने वाले एक मुस्लिम परिवार के यहां ले गया था, वहां मेहरुन्निसा नामक महिला ने झाड़-फूंक किया था, मगर वह ठीक नहीं हुए और उसकी मृत्यु हो गई थी। इसके बाद उसकी विधवा पत्नी घर में झाडू-पौंछा करके अपना और अपनी बिटिया का गुजारा कर रही थी।

ऐसे दिया घटना को अंजाम

नाबालिग लड़की की मां और पुलिस के बयानानुसार गुरुवार को मेहरून्निसा का तीस वर्षीय लड़का इरफान सुबह के समय उसके यहां आया और बोला कि उनके पति की आत्मा भटक रही है, उसकी शांति के लिए पूजा-पाठ करनी होगी, इसके लिए उसको अपनी बेटी को साथ में भेजना होगा। महिला इरफान की मीठी-मीठी बातों में आ गई और इसके बाद युवक उक्त नाबालिग लड़की को लेकर गोपालपुरा तालाब से काफी दूर सूनसान स्थल पर ले गया। खास बात ये है कि लड़की इरफान के गंदे इरादों को समझ नहीं पाई। जबकि उसने सूनसान रास्ते में जाते हुए दो-तीन बार पूछा कि यहां कहां पूजा होगी। वह यह कहता रहा कि जंगल में ही आत्मा भटकने के लिए पूजा जाती है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned