किराना दुकान ६१ घंटे बंद रहेंगी, डेयरी केवल सुबह ६ से ९ बजे तक खुलेंगी

-अब ६१ घंटे का लगाया फुल लॉक डाउन
-दो और चार पहिया वाहनों पर पूरी तरह रोक, कृषि वाहनों को रहेगी छूट

By: Mohar Singh Lodhi

Published: 18 Apr 2020, 12:45 PM IST

गुना. मार्च महीने से जारी लॉक डाउन में तीन दिनों की मामूली राहत के बाद शुक्रवार को फिर कलेक्टर एस विश्वनाथन ने टोटल लॉक डाउन के आदेश जारी कर दिए। इस बार ६१ घंटे के लिए फुल लॉक डाउन रहेगा। १७ अप्रैल की शाम ५ बजे से लेकर २० अप्रैल को सुबह ६ बजे तक सख्ती के साथ इस लॉक डाउन का आदेश दिया।
इस बीच किराना दुकानें पूरी तरह बंद रहेंगी और केवल होम डिलेवरी की अनुमति दी जाएगी। डेयरी का समय सुबह ६ बजे से ९ बजे तक महज तीन घंटे कर दिया है। दरअसल, प्रदेश और देश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग का और कड़ाई से पालन कराने फुल लॉक डाउन की आवश्यकता महसूस की जा रही थी। इसके बाद कलेक्टर ने ये आदेश जारी किया है। उल्लेखनीय है कि लॉक डाउन का दूसरा चरण १५ अप्रैल से आरंभ हुआ है, जो ३ मई तक जारी रहेगा। लॉक डाउन गुना में काफी सफल हुआ है और अभी तक कोई संक्रमित होने का मामला सामने नहीं आया है।
तीन दिन में ही लोग कोरोना के खतरे को लेने लगे थे हल्के में
जिला प्रशासन ने तीन दिन के लिए लॉक डाउन में मामूली छूट दी थी। इसके बाद लोग घरों से बाहर बिना कारण ही आने लग गए। स्थिति ये रही है कि एक घंटे के भीतर एक चौराहा से ५०० वाहन गुजरने लग गए। हाट रोड, सदर बाजार, एबी रोड की दुकानों पर भीड़ और एबी रोड स्थित बैंक शाखाओं पर ग्राहकों की कतार नजर आने लगीं। इस वजह से न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो पा रहा था और ना ही संक्रमण के बचाव के लिए आवश्यक कदम उठा जा रहे थे। बताया जाता है कि बैंक और कियोस्क सेंटरों पर सोशल डिस्टेंस का पालन नहीं कराया तो यहां भी सख्ती से कार्रवाई की जाएगी।
गुना के लिए राहत: १६५ की रिपोर्ट निगेटिव आई, अब १२५ का इंतजार
लॉक डाउन का सकारात्मक असर गुना में देखने को मिला है। २५ दिन के लॉक डाउन में कहीं भी कोई संक्रमित व्यक्ति सामने नहीं आया है। अब तक करीब २९० संदिग्ध मरीजों की जांच के लिए सैम्पल लिया है और इनमें से १६५ की रिपोर्ट निगेटिव आई है। १२५ मरीजों की रिपोर्ट आना बांकी है। प्रशासन ने जिले की सीमाएं सील कर रखी हैं। इसके बाद भी बाहर से लोग आ रहे हैं। इससे खतरा भी बना हुआ है। इसके बाद भी गुना अब तक की स्थिति में सबसे बेहतर है। उल्लेखनीय है कि पिछले १५ दिनों से लगातार जांच चल रही है। होम क्वारंटाइन कराने से काफी सकारात्मक परिणाम निकले हैं।
इन पर पूर्ण प्रतिबंध
किराना दुकान पूरी तरह से बंद रहेंगी। केवल वे ऑर्डर मिलने पर होम डिलेवरी कर सकेंगे।
दो और चार पहिया वाहन बंद रहेंगे। सीमाएं भी सील रहेंगी। बिना कारण मिले तो एफआईआर होगी।
सब्जी-फल विक्रेता एक जगह १५ मिनट से ज्यादा नहीं रुकेंगे।
लोग भी बाहर पैदल नहीं घूम सकेंगे, उन पर केस दर्ज होगा।
इन्हें रहेगी छूट
गुना जिले में मेडिकल स्टोर्स, बैंक, एटीएम, हार्वेस्टर, कृषि उपकरण की दुकान, पेट्रोप पंप, गैस सिलेंडर वितरण पर कोई प्रतिबंध नहीं है।
किराना सामग्री की होम डिलेवरी पर कोई रोक नहीं।
दूध डेयरी सुबह ६ से ९ बजे तक खुलेंगी।
उपार्जन केंद्र एवं कृषि मंडी जाने वाले किसानों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा।
सब्जी फल विक्रेताओं में मोहल्लों में घूम-घूमकर सब्जी, फल विक्रय की अनुमति रहेगी।
आपातकालीन चिकित्सा में छूट रहेगी। ड्यूटी पर तैनात प्रशासन, पुलिस, अन्य प्रशासनिक वाहनों तथा हार्वेस्टर एवं कृषि प्रयोग में लिए वाहनों पर ये प्रतिबंध नहीं रहेगा।
गुना हेल्थ बुलेटिन
१६३०० लोगों की अब तक स्क्रीनिंग की गई।
९५६८ व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन कराया है।
२९० व्यक्तियों के सैम्पल ले चुके हैं अभी तक।
१६५ लोगों की रिपोर्ट आ गई है, सभी रिपोर्ट निगेटिव आई।
१२५ मरीजों की रिपोर्ट आना बांकी है।

Mohar Singh Lodhi
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned